Braz
ब्रेकिंग
ग्रीस में छुट्टियां मनाकर लौटे हार्दिक पांड्या फतेहाबाद में 2 शिकायतों के बाद सेंट्रल बैंक की जांच में खुलासा; हैड कैशियर पर FIR युवक की तलाश करने उतरे मछुआरे की मिली लाश 10 महीने बाद किसानों ने खोला मोर्चा, लखीमपुर बना ‘मिनी पंजाब’; केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र टेनी की बर्खास्तगी की मांग शहर में 10 घंटे रहेंगे शाह... सुरक्षा में तैनात रहेंगे 40 आईपीएस अफसर और 3000 जवान बिहार में मौसम विभाग का अलर्ट दवा के साथ न करें इन चीजों का सेवन सबरीमाला मंदिर का इतिहास भगवान श्रीकृष्ण की हर लीला भक्तों के मन को है लुभाती निजी क्षेत्र में देश का सबसे बड़ा 2600 बेड का है अस्पताल, 64 आपरेशन थियेटर, 81 गंभीर बीमारियों के स्पेशलिस्ट डॉक्टर करेंगे इलाज

ग्वालियर में पुलिस आरक्षक ने व्हाट्सएप ग्रुप में भाजपा के लिए लिखे अपशब्द, तुरंत कर दिया सस्पेंड

ग्वालियर: ग्वालियर के एक वाट्सएप ग्रुप में पुलिस आरक्षक को अश्लील भाषा का इस्तेमाल करना महंगा पड़ गया. जिसके बाद आरक्षक सस्पेंड तो हुआ ही साथ ही उसपर विभागीय जांच भी शुरू हो गई है. अश्लील शब्द के प्रयोग के बाद हेड कांस्टेबल को ग्रुप से रिमूव भी कर दिया है|

दरअसल ग्वालियर में पदस्थ पुलिसकर्मी धर्मेंद्र पाठक ने एक व्हाट्सएप ग्रुप में भारतीय जनता पार्टी को लेकर अभद्र टिप्पणी(गाली) लिख दी. जिसके बाद ग्रुप के सदस्यों ने टिप्पणी पर आपत्ति ली. खास बात ये है कि अभद्र कमेंट जिस व्हाट्सएप ग्रुप में किया गया उस ग्रुप में खुद एसपी अमित सांघी भी जुड़े हुए हैं जब एसपी की नजर आरक्षक के अभद्र कमेंट पर पड़ी तो एसपी ने तत्काल आरक्षक के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई कर शुरू करते हुए विभागीय जांच बिठा दी. आपको बता दें कि ग्रुप में कोरोना को लेकर एक न्यूज की क्लिप डाली गई थी. जिस पर आरक्षक ने अपशब्द लिखे, और फिर उसके बाद ये भी लिखा कि ” अब कोरोना आ गए तो चुनाव कहा चला गया |

एसपी अमित सांघी का कहना हैं कि इस तरह की हरकतों से पुलिस की छवि खराब होती है. जो कि कतई बर्दाश्त करने योग्य नहीं है. आरक्षक धर्मेंद्र पाठक ने जिस ग्रुप में अपशब्द लिखे हैं उसमें कई सामाजिक और वरिष्ठ लोग जुड़े हुए हैं|

Braz