ब्रेकिंग
स्वास्थ्य मंत्री डॉ. चौधरी ने जेपी हॉस्पिटल में स्वास्थ्य मेले की व्यवस्थाओं का जायजा लिया एकदंत संकष्टी चतुर्थी कल अप्रैल के जीएसटी कर भुगतान की तारीख बढ़ी वैश्विक स्तर पर अकेले वायु प्रदूषण से 66.7 लाख लोगों की मौत ऑनलाइन गेमिंग, कैसिनो पर 28 फीसदी जीएसटी लगाने की तैयारी, ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स ने दी प्रस्ताव को मंजूरी एक दिन की बढ़त के बाद फिसला बाजार, सेंसेक्स-निफ्टी लाल निशान में क्लोज, पॉवर ग्रिड सबसे ज्यादा लुढ़का पीएम आवास योजना को लेकर सरकार ने किया बड़ा ऐलान! सभी पर पड़ेगा असर कश्मीर घाटी में अभी और होगी बारिश, जम्मू में चल सकती है लू, अलर्ट जारी सुप्रीम कोर्ट ने एजी पेरारिवलन को रिहा किया फूड कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया में आवेदन की प्रक्रिया जल्द ही शुरू की जा सकती है

बिलासपुर में आसमान साफ, सूर्यदेव का बढ़ने लगा ताप

बिलासपुर। चक्रवात का असर समाप्त होने के बाद न्यायधानी में दिन के साथ ही अब रात के तापमान में भी बढ़ोतरी होने लगी है। आसमान साफ होने से सूर्यदेव भी अपना ताप बढ़ाने लगे हैं। इसके असर से अब गर्मी बढ़ने लगी है। सोमवार को अधिकतम तापमान 34.8 डिग्री दर्ज किया गया।

वहीं रात का न्यूनतम तापमान 20.2 डिग्री सेल्सियस रहा। मौसम विज्ञान केंद्र की मानें तो पश्चिमी विक्षोभ का असर खत्म होने के बाद अब सूर्य अपना तेवर दिखाना शुरू कर दिया है। इससके साथ ही गर्मी भी बढ़ने लगी है।

शहर में एक दिन पूर्व न्यूनतम तापमान 20 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। सोमवार को इसमें विशेष बदलाव तो नहीं आया पर यह सामान्य से एक डिग्री अधिक है।

वहीं अधिकतम 34.8 डिग्री पर पहुंच गया है। हालांकि इसमें भी लगातार उतार चढ़ाव बना हुआ है। अधिकतम तापमान बढ़ने से घरों व दफ्तरों में कूलर, पंखे व एसी चलने लगे हैं। दोपहर में बाहर निकलने से भी गर्मी व तेज धूप का सामना करना पड़ रहा है। मौसम विज्ञानी डा. एचपी चंद्रा के मुताबिक पश्चिमी विक्षोभ का असर अब समाप्त हो चुका है।

पेंड्रारोड व आसपास क्षेत्रों में भी इसका प्रभाव खत्म हो गया। इधर, फसलों पर बारिश का पड़े प्रभाव को लेकर ठाकुर छेदीलाल बैरिस्टर कृषि एवं अनुसंधान केंद्र के अधिष्ठाता एवं कृषि विज्ञानी प्रो. आरके तिवारी ने कहा कि संभाग में हुई बारिश का कोई खास नहीं हुआ है।

आम को हल्का नुकसान जरूर पहुंचा है। इसमें भी बहुत अधिक चिंता की बात नहीं है। सरगुजा और दूसरे जिलों में गेहूं की फसलों को भी थोड़ा नुकसान हुआ है।अब सूर्य के निकलने के बाद स्थिति नियंत्रण में है।