बदमाश ने नाबालिग के हाथ, पैर और पीठ पर किया ताबड़तोड़ वार, उपचार के दौरान मौत

रायपुर।  राजधानी रायपुर में चाकूबाजी की घटनाएं लगातार सामने आ रही है। इससे अपराध का ग्राफ बढ़ रहा है। एक ताजा मामले में गुढ़ियारी इलाके में बदमाश युवक ने एक नाबालिग पर चाकू से हमला किया है। इस हमले में नाबालिग गंभीर रूप से घायल हो गया, जिसे अस्पातल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई।

बताया गया कि आरोपितों ने नाबालिग के हाथ,पैर,पीठ और जांघ पर हमला किया है। पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार मामला गुढ़ियारी थाना क्षेत्र का है, जहां रामनगर में बदमाश युवक ने एक नाबालिग पर चाकू से हमला कर दिया।

हमले से घायल नाबालिग को उपचार के लिए नजदीकी अस्पताल ले जाया गया था, जहां उपचार के दौरन मौत हो गई। बताया गया कि आरोपित युवक ने पुरानी रंजिश के चलते इस घटना को अंजाम दिया है। रविवार को भी राजातालाब इलाके में चाकूबाजी की घटना सामने आई थी, जहां दो आरोपितो ने एक युवक को चाकू मार दिया था। घायल युवक का अस्पताल में उपचार जारी है।

इधर, प्रदेश में बढ़ते अपराध पर नियंत्रण पाने में फेल रहने वाले पुलिस अधीक्षकों को डीजीपी डीएम अवस्थी ने जमकर फटकार लगाई। डीजीपी ने दो टूक कहा कि जिलों में अपराध पर लगाम लगाएं। प्रिवेंटिंग पुलिसिंग से अपराधों में कमी आएगी। अपराधिक घटनाओं को रोकने के लिए पुलिस अधीक्षक स्वयं ऐसे पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगाएं, जिनका सूचना तंत्र मजबूत हो।

पुलिस मुख्यालय में सोमवार को डीजीपी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए अपराधों की समीक्षा की। डीजीपी ने कहा कि पुलिस अधिकारी ग्रामीण इलाकों में अपराधों की रोकथाम के लिए गांवों में चौपाल लगाएं। शहरी क्षेत्रों में नागरिकों के साथ संवाद स्थापित करें, जिससे सूचना तंत्र मजबूत हो सके। अपराधों की रोकथाम के लिए नाकाबंदी और वाहनों का औचक निरीक्षण होना चाहिए।