ब्रेकिंग
आर्थिक आधार से गरीब लोगों के आरक्षण में कटौती के विरोध में आज भाटापारा अनुविभागीय अधिकारी के कार्यालय जाकर राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा गया विधानसभा विशेष सत्र। विधानसभा सत्तापक्ष पर जमकर बरसे विधायक शिवरतन शर्मा, आरक्षण रुकवाने जो लोग कोर्ट गए उन्हें मुख्यमंत्री जी पुरस्कृत करते हैं,सत्र ... Selecting the right Virtual Info Room Supplier रायपुर विधानसभा विशेष सत्र। विधानसभा में आरक्षण बिल के दौरान ब्राह्मण नेताओं पर जमकर बरसे बलौदाबाजार विधायक प्रमोद शर्मा, उनके मुंह पर करारा तमाचा मार... Making a Cryptocurrency Beginning अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद भाटापारा नगर इकाई की हुई घोषणा मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने मंडी समिति के नए सदस्य को दिलाई शपथ, उद्बोधन में कहा भारसाधक पदाधिकारीयो की नियुक्ति के बाद से मंडी लगातार चहुमुखी विकास क... मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने धान ख़रीदी केंद्रो का निरीछन कर, धान बेचने आये किसानो से मुलाक़ात कर, धान बेचने में आने वाली समस्या की जानकारी ली, किसानों... ग्राम मर्राकोना में नवीन धान उपार्जन केंद्र के शुभारंभ अवसर पर मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने कहा भूपेश सरकार किसानों की सरकार है ग्राम मर्राक़ोंना में नवीन धान उपार्जन केंद्र को मिली हरी झंडी मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने दी जानकारी

मंत्रालय में ठेका और विधानसभा में नौकरी लगवाने के नाम पर लाखों की धोखाधड़ी

रायपुर। राजधानी के पंडरी थाना इलाके में किराना व्यवसायी के साथ ठगी हुई है। व्यापारी को मंत्रालय में कैंटीन का ठेका दिलाने और विधानसभा में नौकरी लगवाने का झांसा दिया गया। फिर एक लाख 95 हजार रुपए ऐंठ लिए गए। घटना की शिकायत के बाद पुलिस ने धोखाधड़ी का केस दर्ज किया है।

आरोपित रायपुर में किराए के घर में रहता था। जानकारी के अनुसार लोधीपारा निवासी रितेश जंघेल किराने का दुकान चलाता है। 2015 में उसके घर के पास मनेन्द्रगढ़, कोरिया निवासी संतोष सोनी उर्फ बादल किराए से रहता था। वह सेकेंड हैंड गाड़ी की खरीदी बिक्री का काम करता था। इसी दौरान रितेश जंघेल की पहचान संतोष सोनी से हुई थी।

सीएम के साथ फोटो दिखाकर की ठगी

आरोपित साल 2018 में सीएम के साथ अपना फ़ोटो दिखाकर मुख्यमंत्री के साथ अच्छा जान पहचान होना बताया था। जिससे वह उसके झांसे में आ गया। इसके बाद आरोपित ने उसे मंत्रालय में कैंटीन का टेंडर दिलवाने के नाम से 75 हजार रुपए ले लिया। पीड़ित ने 45 हजार रुपए ऑनलाइन और 30 हजार रुपए नगद आरोपी को दे दिया।

स्वास्थ्य मंत्री के बंगले में भी ले गया

इसके अलावा उस दौरान विधानसभा में सहायक ग्रेड-3 का वैकेंसी निकली थी। उसमें पीड़ित रितेश ने फार्म भरा था, उसमें भी नौकरी लगवा देने की बात कहकर स्वास्थ्य मंत्री के बगले ले गया। वहां किसी सफल नाम के व्यक्ति से मुलाकात भी करवाई। वहां भी आरोपी उससे पैसा ले लिया। इस तरह 1 लाख 95 हजार रुपए ठेका दिलवाने और नौकरी लगाने के नाम पर ठगी की।

आरोपी फरार, तलाश जारी

इस मामले में पंडरी पुलिस थाना प्रभारी याकूब मेमन का कहना है कि आरोपित ने बड़े लोगों से संबंध होना बताकर पीड़ित को झांसे में लिया। पीड़ित की शिकायत पर केस दर्ज कर लिया गया है। आरोपित फरार है, उसकी तलाश की जा रही है।