ब्रेकिंग
डोमेस्टिक का चार्ज लगेगा, बिजली बिलों में 2 रुपए प्रति यूनिट का मिलेगा फायदा एक महीने में हुए चार 'दुराचारी सभा' में पहुंचे सिर्फ 844 हिस्ट्रीशीटर,दरी पर बैठना उन्हें नहीं पसंद बोले- 5 साल से कर रहा था तैयारी, अब बना राजस्थान का टॉपर गुरु अमरदास एवेन्यू के निवासियों ने ब्लॉक किया जीटी रोड, MLA के खिलाफ प्रदर्शन भूप्रेंद्र सिंह हुड्‌डा ने कहा गांधीवादी तरीके से करेंगे विरोध, सरकार रद्द करके अग्निपथ फर्जी दस्तावेज तैयार कर कब्जाई थी जमीनें, पुलिस की गिरेबान पर हाथ डालने के बाद आया था चर्चा में सनी नागपाल भुवनेश्वर कुमार तोड़ेंगे पाकिस्तानी गेंदबाज का रिकॉर्ड डेब्यू मैच में फ्लॉप रहे उमरान मलिक घर में रखा फ्रिज सिर्फ उपकरण नहीं, है वास्तु शास्त्र की रहस्मयी व्याकरण... इस दिशा में रखने से चमक जाता है भाग्य पंचायत के प्रथम चरण के चुनावों के बाद EVM का हुआ रेंडमाइजेशन

सात लाख के इनामी तीन नक्सलियों ने किया समर्पण

दंतेवाड़ा। छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में बुधवार को सात लाख रुपये के इनामी तीन नक्सलियों ने पुलिस के समक्ष लोन वर्राटू के तहत आत्मसमर्पण कर घर वापसी की। इनमें एक नक्सली सुकमा जिले के मिनपा विस्फोट-फायरिंग में शामिल था, जिसमें 19 जवान शहीद हो गए थे।

पुलिस के मुताबिक नक्सल संगठन में गंगालूर लोकल स्क्वायड आर्गेनाइजेशन (एलएसओ) का डिप्टी कमांडर सुखनाथ पोटाम तीन लाख रुपये का इनामी है। वह बीजापुर जिले के गंगालूर थानांतर्गत कोरचोली निवासी है। दूसरा आत्मसमर्पित नक्सली गंगालूर क्षेत्र के ही पालनार पटेलपारा निवासी दो लाख रुपये का इनामी लक्ष्मण भोगाम है, जो नक्सलियों की डाक्टर टीम का प्रभारी था।

सुखराम पर आरोप है कि वह 2008 से अब तक कई मुठभेड़ और अन्य घटनाओं में शामिल रहा है। अलग- अलग वारदातों में उसकी टीम ने छह जवानों को शहीद किया है। इसी तरह लक्ष्मण भोगाम भी बीजापुर जिले के दो जवानों को शहीद करने वाले मुठभेड़ में शामिल था। इसके अलावा भी वह इस क्षेत्र में नक्सलियों से जुड़ी बाकी गतिविधियों में शामिल होता था और कई मौके पर पूरी टीम का नेतृत्व भी करता था।

वहीं दो लाख रुपये के इनामी नक्सली मनकू ताती ने मंगलवार को दंतेवाड़ा के बचेली थाना में आत्मसमर्पण कर दिया। नक्सलियों के प्लाटून नंबर दो का सदस्य बीजापुर के कुटरू थानांतर्गत दरभा गढ़मिरी निवासी मनकू ने बताया कि वह बाल संघम सदस्य के रूप में नक्सली संगठन में आया था। वर्ष 2020 में सुकमा जिले के मिनपा क्षेत्र में गश्त पर निकली फोर्स पर घात लगाकर विस्फोट और फायरिंग करने की घटना में वह शामिल था। इसमें 19 पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे।