ब्रेकिंग
रमन सिंह को कवर्धा में तगड़ा झटका, पूर्व मुख्यमंत्री के बेहद करीबी घनश्याम गुप्ता भी टूटे, अकबर ने थमाया कांग्रेस का हाथ अनोखा विरोध प्रदर्शन VIDEO: महंगाई के विरोध में महिला कांग्रेस ने की सिलेंडर की पूजा, सिर पर रखकर किया गरबा नृत्य, बोलीं- थैंक्यू मोदी जी सीएनजी महंगी होने के बाद पेट्रोल-डीजल के नए रेट जारी, चेक करें आपके शहर में कितना पहुंचा दाम ये 20 शेयर आज करा सकते हैं तगड़ी कमाई, चेक कर लें लिस्‍ट खत्‍म हुआ सस्‍पेंस, क‍िसानों के खाते में इस द‍िन आएंगे 2000 रुपये!  गुजरात कांग्रेस प्रभारी रघु शर्मा की हार्दिक पटेल को पार्टी के अनुशासन में रहने की हिदायत रायपुरियंस आज सोच समझकर घर से बाहर निकले... नहीं तो बुरी तरह फंस सकते है ट्रैफिक में पेयजल संकटः सांसद साध्वी प्रज्ञा ने निगम कमिश्नर को लगाई फटकार, इधर नगरीय प्रशासन मंत्री ने किया ट्वीट- लिखा तत्काल जल आपूर्ति शुरू करें असम में लगातार बारिश से बाढ़ के हालात जनजीवन बुरी तरह प्रभावित Adani ग्रुप खरीदेगा अंबुजा सीमेंट्स और ACC लिमिटेड में Holcim India की हिस्सेदारी, 10.5 अरब डॉलर में हुई डील 

देश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों पर बोले वेंकैया नायडू- सतर्क रहें, कोरोना के नियमों का पालन करें

नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्यसभा के सभापति एम. वेंकैया नायडू ने शुक्रवार को सदन के सभी सदस्यों से आग्रह किया कि वे अत्यधिक सतर्कता बरतें और कोरोना से बचाव के लिए सभी नियमों और दिशानिर्देशों का पालन करें। उन्होंने सदस्यों से पात्र लोगों को भी कोरोना रोधी टीका लगवाने के लिए प्रेरित करने का अनुरोध किया।

राज्यसभा में शुक्रवार को सदन की कार्यवाही शुरू होते ही सभापति नायडू ने कहा, ‘जो सदस्य यहां मौजूद हैं और जो बाहर हैं, मै उन सभी से कहना चाहता हूं कि वह कोरोना को लेकर फिलहाल अतिरिक्त सतर्कता बरतें। यह इसलिए जरूरी है, क्योंकि सभी क्षेत्र में जनता के बीच वह जाते है। मुझे पता है कि वे कमरों में बंद नहीं हो सकते हैं। ऐसे में जनता से मिलने और क्षेत्रों में रहने के दौरान उन्हें स्वास्थ्य मंत्रालय, गृह मंत्रालय, राज्य सरकारों और स्थानीय प्रशासन के दिशा-निर्देशों का कड़ाई से पालन करना चाहिए।’

उन्होंने कहा कि सिर्फ सांसदों को ही नहीं,बल्कि देश की जनता को भी सतर्क रहने की जरूरत है। नायडू ने कहा कि हाल ही में जहां भी कोरोना के मामले में बढ़ोतरी हुई है, वहां नियमों का पालन नहीं करने से हुई है। ऐसे में हमें स्थिति को बिगड़ने नहीं देना है। दुनिया ने देखा कि हमने कोरोना के पहले फेज का किस तरह से सामना किया है, जिसके चलते हमें दुनिया के विकसित देशों के मुकाबले कम नुकसान हुआ है। ऐसे में हमें इस सतर्कता और अनुशासन को बनाए रखना है। उन्होंने सांसदों और उनके परिवार के सदस्यों के लिए सप्ताह के अंत में चलाए जाने वाले टीकाकरण अभियान की भी जानकारी दी, जिसमें सभी सांसद और उनके परिजन टीका लगवा सकते हैं।