ब्रेकिंग
केंद्र सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर दी बड़ी राहत, जानें कितने घट गए दाम केरल में भारी बारिश, IMD ने जारी किया येलो अलर्ट; खोले गए 2 बांध जयपुर से लौटे रमन, कहा- भाई-भतिजावाद और परिवारवाद की वजह से कांग्रेस की हुई ये स्थिति अब इस प्राइवेट सेक्टर के बैंक ने एफडी की ब्याज दरों में की बढ़ोतरी, जानें लेटेस्ट ब्याज दर NIA अफसर तंजील अहमद मर्डर केस में मुनीर और रैयान को फांसी की सजा ज्ञानवापी मामले में ‘शिवलिंग’ पर आपत्तिजनक पोस्ट करने वाले प्रोफेसर रतन लाल को ज़मानत, जानें कोर्ट में क्या-क्या हुआ पेटीएम को हुआ 762 करोड़ रुपये का घाटा, कंपनी ने कहा- सही रास्ते पर कारोबार जिला जज को हैंडओवर की ज्ञानवापी केस की रिपोर्ट UP विधानसभा लोगों की आकांक्षाओं को पूरा करेगी : सतीश महाना 'ठेके-पटटे, तबादला-तैनाती' से रहें दूर : सीएम योगी

सिंधिया बोले- कांग्रेस ने MP को भ्रष्टाचार का अड्डा बनाया, इसलिए उखाड़ फेंकी सरकार

भोपाल: आज से ठीक एक साल पहले आज के ही दिन मध्यप्रदेश की सियासत में बड़ा उलटफेर हुआ था। तत्कालीन कमलनाथ सरकार के 28 विधायकों के इस्तीफे के बाद सरकार अल्पमत में आ गई थी। साथ ही कांग्रेस के सबसे बड़े नेताओं में शामिल ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी पार्टी छोड़ दी। परिणाम ये हुआ कि 20 मार्च को मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भी सीएम पद से इस्तीफा दे दिया। वहीं अब अपने एक साल पूरे होने पर सीएम शिवराज सिंह चौहान और ज्योतिरादित्य सिंधिया साझा प्रेस कांफ्रेंस की, इस बीच सिंधिया ने कांग्रेस पर जमकर हमला बोला।

BJP सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि ‘जिस सरकार ने मध्यप्रदेश को भृष्टाचार का अड्डा बनाया था, उस सरकार को हमनें उखाड़ फेंका। एक वर्ष में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने मध्यप्रदेश की जनता की सेवा के नये कीर्तिमान स्थापित किए हैं। कांग्रेस की तरफ से मेरे और शिवराज के बारे में कई बयान आ रहे हैं, इस बीच सिंधिया ने कहा कि, इबारत में लिखी हुई बात भी जो नहीं पहचान पाए, उस दल के बारे में क्या कहें। मुझे गर्व है सीएम शिवराज के नेत्रत्व में एक चिंता जो हमारी सरकार ने दिखाई है। मुझे विश्वास है मध्यप्रदेश प्रगति करेगा। मोदी जी के नेत्रत्व में राष्ट्र भी प्रगति कर रहा है।

CM के साथ सिंधिया ने किया पौधारोपण …
यही नहीं भाजपा सांसद सिंधिया ने सीएम शिवराज सिंह चौहान के साथ मिलकर भोपाल में स्मार्ट सिटी रोड पर वृक्षारोपण किया। उन्होंने कहा कि यह हम सभी का दायित्व है कि पर्यावरण के हित में अधिक से अधिक वृक्षारोपण करें।