अन्न्दाता किसानों का खत्म हुआ इंतजार, कल बैंक खाते में जमा होगा 87 करोड़

बिलासपुर। वर्ष 2019-20 में समर्थन मूल्य पर धान बेचने वाले बिलासपुर जिले के एक लाख पांच हजार किसानों को राजीव गांधी न्याय योजना की अंतिम किश्त की राशि रविवार को जमा कराई जाएगी। इसके लिए जिला सहकारी केंद्रीय बैंक ने किसानों की सूची के साथ बैंक अकाउंट का नंबर राज्य शासन को पोर्टल में अपलोड कर दिया है। जिले के किसानों के खाते में राज्य सरकार द्वारा 74 करोड़ स्र्पये जमा कराई जाएगी।

बीते वर्ष समर्थन मूल्य पर धान बेचने वाले जिले के एक लाख पांच हजार किसानों के लिए राहत भरी खबर ये है कि रविवार को उनके बैंक खाते में राजीव गांधी न्याय योजना के तहत अंतिम किश्त की राशि जमा कराई जाएगी। अभी रबी फसल का सीजन चल रहा है। गेहूं की फसल पककर तैयार है। धान की दूसरी फसल लेने वाले किसानों के खेत में हरियाली छाई हुई है। धान की फसल लहलहा रही है।

अंतिम किश्त की राशि मिलने से खेती किसानी में राहत मिलेगी। गेहूं की कटाई और मिसाई के अलावा जिस तरह से मौसम में लगातार बदलाव आ रहा है उसे देखते हुए खाद व कृषि दवा खरीदने में किसानों को मदद मिलेगी। राज्य शासन ने 15 मार्च तक राजीव गांधी न्याय योजना की अंतिम किश्त की राशि किसानों के खाते में जमा कराने की योजना बनाई थी। इसमें पांच दिनों का विलंब हुआ है। किसानांे के लिए राहत वाली बात ये कि रबी फसल की खेती के दौरान यह राशि मिल रही है।

00 इस वर्ष की पहली किश्त कब

वर्ष 2020-21 मंे जिले के किसान जिन्होंने समर्थन मूल्य पर धान बेचा है उनको राजीव गांधी न्याय योजना की पहली किश्त का इंतजार है। माना जा रहा है कि चार महीने बाद ही इस वर्ष धान खरीदी के एवज में राज्य शासन द्वारा न्याय योजना की पहली किश्त किसानों के बैंक खाते में जमा कराएगी। इस वर्ष जिले के एक लाख 25 हजार किसानों ने समर्थन मूल्य पर धान बेचने पंजीयन कराया था। इनमें से आठ हजार किसान धान बेचने से वंचित रह गए थे। टोकन के बाद किसान धान नहीं बेच पाए थे।