ब्रेकिंग
गर्मी के चलते वेस्टर्न रेलवे ने 12 एसी लोकल ट्रेनें शुरू की, जानें कहां से कहां तक हैं ये ट्रेन पुलिस की सराहनीय पहल, प्रतिभावान छात्राओं के घर-घर जाकर किया सम्मानित, बच्चों ने आईएएस, डाॅक्टर व सीए बनने की जताई ईच्छा MP में तालों में कैद भगवान! MLA आकाश विजयवर्गीय बोले- जल्द खुलेगा बोलिया सरकार छत्री का शिव मंदिर एलपीजी गैस सिलेंडर पर लेना चाहते हैं सब्सिडी, फॉलो करें यह आसान प्रोसेस सूरज की तपिश से बादलाें ने दिलाई राहत बोरिंग माफियाओं की मनमानी से इंदौर में गहराया जल संकट नहीं रोक लगा पा रहा नगर निगम, आज भी रोजाना हो रहे 20-25 अवैध बोरिंग चीनी विमान जानबूझकर नीचे लाकर क्रैश कराया गया था श्रीराम सेना का दावा- कर्नाटक में 500 अवैध चर्च ग्राम देवादा में जल सभा का आयोजन एक ही परिवार के 3 लोगों के मर्डर का खुलासा, परिजन ही निकले हत्यारे, ये बनी हत्या की वजह

अवैध कालाेनियाें पर चली थ्रीडी मशीन

ग्वालियर। नगर निगम सीमा में अवैध रूप से जीडीए की नोटिफाइड भूमि पर बनी तीन अवैध कालोनियों को नगर निगम की भवन शाखा ने थ्रीडी मशीन की मदद से तोड़ दिया। इन कालोनियों में कालोनाइजरों ने सड़क, सीवर लाइन आदि डालकर प्लाटिंग शुरू कर दी थी। साथ ही इनमें से अधिकांश भूखंडों को कालोनाइजरों ने बेच भी दिया है। दो दिन की कार्रवाई में नगर निगम ने छह कालोनियों को तोड़ा। वहीं 7वीं कालोनी पर एक-दो दिन में कार्रवाई की जाएगी। इस कालोनी में एक छोटा सा हिस्सा नोटिफाइड है, जबकि बाकी की कालोनी अवैध है। नोटिफाइड हिस्से को छोड़कर बाकी की कालोनी पर निगम कार्रवाई करेगा।

सिटी प्लानर पवन सिंघल व भवन अधिकारी बृजकिशोर त्यागी ने बताया कि अवैध कालोनी वाला क्षेत्र ग्वालियर विकास प्राधिकरण(जीडीए) की महादजी नगर योजना में नोटिफाइड है। इस क्षेत्र में बगैर जीडीए की अनुमति के कालोनी नहीं बसाई जा सकती है, लेकिन वहां पर भू- माफिया ने नगर निगम और जीडीए से बिना इजाजत लिए अवैध कालोनी काट दी। इन कालोनियों पर कार्रवाई के लिए जीडीए ने नगर निगम को पत्र भी लिखा था।

इन लोगों ने काटी है अवैध कालोनीः नगर निगम और जीडीए से बिना परमिशन लिए कालोनी काटने वालों में धर्मेंद्र, जितेंद्र सिंह पुत्र मोहर सिंह यादव, वीरेंद्र पुत्र रमेश चन्द्र वैश्य, प्रीतम सिंह, गजराज सिंह, मनोज जैन पुत्र सोहनलाल जैन, अध्यक्ष मनोदीप हायर एजुकेशन सोसायटी, आनंद अग्रवाल पुत्र रामबाबू अग्रवाल, निवासी सिंधी कालोनी, मैसर्स संस्कृत बिल्डर्स एवं कालोनाइजर्स गिरीश शर्मा पुत्र ओमप्रकाश शर्मा और लोकमान्य गृह निर्माण समिति एवं सुदर्शन रियल एस्टेट, आनंद शुक्ला एवं हरवंशलाल गुप्ता का नाम शामिल है।

न्यायालय में होगा प्रकरण दर्जः नगर निगम द्वारा इन सभी कालोनाइजरों के खिलाफ न्यायालय में प्रकरण दर्ज कराया जा रहा है। यह प्रकरण संभवत: सोमवार को दर्ज हो जाएगा।