ब्रेकिंग
केंद्र सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर दी बड़ी राहत, जानें कितने घट गए दाम केरल में भारी बारिश, IMD ने जारी किया येलो अलर्ट; खोले गए 2 बांध जयपुर से लौटे रमन, कहा- भाई-भतिजावाद और परिवारवाद की वजह से कांग्रेस की हुई ये स्थिति अब इस प्राइवेट सेक्टर के बैंक ने एफडी की ब्याज दरों में की बढ़ोतरी, जानें लेटेस्ट ब्याज दर NIA अफसर तंजील अहमद मर्डर केस में मुनीर और रैयान को फांसी की सजा ज्ञानवापी मामले में ‘शिवलिंग’ पर आपत्तिजनक पोस्ट करने वाले प्रोफेसर रतन लाल को ज़मानत, जानें कोर्ट में क्या-क्या हुआ पेटीएम को हुआ 762 करोड़ रुपये का घाटा, कंपनी ने कहा- सही रास्ते पर कारोबार जिला जज को हैंडओवर की ज्ञानवापी केस की रिपोर्ट UP विधानसभा लोगों की आकांक्षाओं को पूरा करेगी : सतीश महाना 'ठेके-पटटे, तबादला-तैनाती' से रहें दूर : सीएम योगी

रोड शो के दौरान शाह बोले- LDF, UDF से परेशान जनता की निगाहें BJP पर

कोच्चि। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बुधवार को कहा कि केरल के लोग वाम लोकतांत्रिक मोर्चा (LDF) और यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (UDF) से तंग आ चुके हैं और वे अब भाजपा को एक विकल्प के रूप में देखते हैं। एएनआइ से बात करते हुए, शाह ने दावा किया कि भाजपा विधानसभा चुनावों में अच्छा प्रदर्शन करेगी।

उन्होंने कहा, ‘केरल के लोग एलडीएफ और यूडीएफ से तंग आ चुके हैं। यहां के लोग भारतीय जनता पार्टी को एक विकल्प के रूप में देख रहे हैं। मुझे यकीन है कि हम आगामी केरल विधानसभा चुनावों में अच्छा प्रदर्शन करेंगे।’ अमित शाह की केरल के थ्रिप्पुनिथुरा में रैली हो रही थी, जिसके बाद उन्होंने अपना संबोधन भी दिया, जिसमें उन्होंने कहा कि LDF, UDF की सरकारों ने केरल को भ्रष्टाचार का अड्डा बना दिया।

कांग्रेस पर क्या बोले अमित शाह?

कांग्रेस को एक भ्रमित पार्टी कहते हुए, पूर्व भाजपा प्रमुख ने कहा कि वे केरल में कम्युनिस्टों के खिलाफ लड़ रहे हैं और पश्चिम बंगाल में उनके साथ गठबंधन किया है। उन्होंने कहा ‘कांग्रेस एक भ्रमित पार्टी है। केरल में, वे कम्युनिस्टों के खिलाफ लड़ रहे हैं और बंगाल में उनके साथ लड़ रहे हैं। कांग्रेस पार्टी और उसका नेतृत्व भ्रमित करने वाला है।’ बता दें कि यह अमित शाह ने थ्रिप्पुनिथुरा में रोड शो करते हुए कहा।

भाजपा 115 सीटों पर चुनाव लड़ रही है और बाकी 25 सीटें सहयोगी दलों के लिए छोड़ दी गईं, हालांकि, गठबंधन के तीन उम्मीदवारों ने इस सप्ताह के शुरू में अपना नामांकन खारिज कर दिया। 14 जिलों में 140 सदस्यीय केरल विधानसभा के लिए चुनाव 6 अप्रैल को एक चरण में होगा। मतगणना 2 मई को होगी।