शहीद बादलसिंह को अंतिम विदाई देने नागदा में उमड़े लोग

नागदा। सियाचीन के समीप देश की सेवा करते हुए शहीद हुए शहर के वीर सपूत बादलसिंह चंदेल की पार्थिव देह शनिवार सुबह नागदा लाई गई। अपने नगर के वीर को अंतिम विदाई देने यहां भीड़ उमड़ पड़ी। करीब एक घंटा दर्शन के बाद शहर के मुख्य मार्गों से अंतिम यात्रा निकाली गई। मुक्तिधाम पर गार्ड आफ आनर देकर राजकीय सम्मान के साथ अंत्येष्टि की जाएगी।

सियाचीन के समीप 27 हजार 500 फीट ऊंचाई पर देश की सेवा करते हुए बादलसिंह चंदेल बुधवार की रात को शहीद हो गए थे। सूचना मिलने के बाद उनके परिवार सहित पूरे शहर में शोक की लहर दौड़ गई। शहीद के पिता ने नम आंखों से कहा कि मुझे गर्व है कि मेरा बेटा देश के लिए शहीद हुआ है। रामसहाय मार्ग स्थित निवास पर एक घंटे अंतिम दर्शन के बाद अंतिम यात्रा नपा, पुराने बस स्टैंड, शासकीय अस्पताल चौराहा, महात्मा गांधी मार्ग, थाने चौराहे से चंबल मार्ग होते हुए मुक्तिधाम की ओर निकली। यहां आर्मी व पुलिस जवानों द्वारा गार्ड आफ आनर देने के बाद मुखाग्नि दी जाएगी।