महराजगंज में CM योगी आदित्यनाथ बोले-देश में किसान के कंधे पर बंदूक रख अराजकता फैलाने का प्रयास

महराजगंज। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को बहराइच के बाद महराजगंज जिले को करोड़ों की सौगात दी। महराजगंज में आज उन्होंने 279.30 करोड़ की परियोजनाओं का शिलान्यास तथा लोकार्पण किया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शनिवार को महराजगंज के महंत अवेद्यनाथ डिग्री कालेज चौक में नगर पंचायत, पर्यटन विकास सहित 279.30 करोड़ की लागत की 116 योजनाओं का लोकार्पण- शिलान्यास करने के बाद उपस्‍थित लोगों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आजकल देश में किसानों को बरगलाने का प्रयास किया जा रहा है। किसानों के कंधों पर बंदूक रखकर देश तथा प्रदेश में भारी अव्यवस्था तथा अराजकता का माहौल बनाया जा रहा है। यह ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बार-बार कहा कि कांट्रैक्ट फार्मिंग का कानून एक विकल्प है, बाध्यता नहीं। इतनी आसान सी बात न समझने वाले कुछ लोग जिन्हेंं विकास अच्छा नहीं लगता वो किसानों को बरगलाने का काम कर रहे हैं।  महराजगंज के वनटांगिया गांव ने कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग शुरू करने की ओर कदम बढ़ाकर मिसाल कायम की है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमने प्रदेश की सत्ता संभालने के बाद सबसे पहले किसानों की कर्ज माफी का कार्य किया था। अनुमानित रूप से अकेले महराजगंज में लगभग एक लाख किसानों की कर्ज माफी हुई थी, मतलब पांच लाख किसान परिवार अकेले महराजगंज जनपद में लाभान्वित हुए थे। भाजपा सरकार की सोच सबका साथ, सबका विकास की है। विकास जब होता है तो रोजगार भी उसके साथ आता है। रोजगार हर एक के चेहरे पर खुशहाली लाने का माध्यम बनता है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले चार साल में उत्तर प्रदेश विकास के पथ पर अग्रसर हुआ है। किसानों को बरगलाने वालों को उत्तर प्रदेश के वनटांगिया गांव के लोगों से सीख लेनी चाहिए। कांट्रेक्ट फर्मिंग का मतलब किसानों की भूमि लेना नहीं है, बल्कि इसके जरिये अधिक उत्पादन प्राप्त करना है। 2017 में प्रदेश में सरकार बनने के बाद पहला कार्य किसानों की कर्जमाफी के रूप में किया गया। अकेले महराजगंज जनपद में एक लाख किसानों का कर्ज माफ हुआ। प्रदेश के सभी क्षेत्रों में बिना भेदभाव के विकास हो रहा है। स्वच्छ भारत अभियान की देन है कि हम इंसेफेलाइटिस पर काबू पाने में सफल हुए हैं। 1977 से 2017 तक इंसेफ्लाइटिस के चलते हजारों नौनिहाल हर साल काल कवलित होते थे, लेकिन जाति, धर्म के आधार पर सत्ता में आए लोगों ने कभी भी शौचालय व शुद्ध पेयजल की व्यवस्था कर संवेदना दिखाने का काम नहीं किया।

उन्होंने कहा कि महराजगंज  में चौक के साथ परतावल, पनियरा व बृजमनगंज भी नगर पंचायत के रूप में घोषित हुए हैं। अब यहां के लोगों को नगरीय सुविधाओं का लाभ मिलेगा। यहां रोगजार के अवसर सृजित होंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत प्रदेश के अंदर 40 लाख लोगों को आवास उपलब्ध कराया गया। पिछले चार वर्षों में 100 से अधिक नगर निकाय बनाए गए हैं। कोरोना के चलते अमेरिका जैसे देश में पांच लाख लोग मर गए, लेकिन उत्तर प्रदेश ने इस महामारी से अपने को बचा लिया। सीमा की सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है। इसी के चलते नेपाल बार्डर के ठूठीबारी से प्रारंभ होकर पीलीभीत तक सड़क बनाई जा रही है। इससे एसएसबी समेत अन्य सुरक्षा एजेंसियों को काफी मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद प्रदेश के अंदर 100 गांव ऐसे थे जिनको कोई सुविधा नहीं मिल पाई थी। जिले के 18 वनटांगिया गांवों के लोग इस बार पहली बार वहां प्रधान का चुनाव करेंगे।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हम नेपाल बॉर्डर के साथ-साथ एक बॉर्डर रोड का भी निर्माण करने जा रहे हैं, जिसकी शुरुआत महराजगंज जिले से होगी। यह मार्ग आपको महराजगंज से सीधे पीलीभीत तक लेकर चला जाएगा और उत्तराखंड के साथ जोडऩे का भी कार्य करेगा। महराजगंज का चौक अब नगर पंचायत बन गया है। ऐसे में अधिक संख्या में सफाई कर्मी यहां कार्य करेंगे और स्वच्छता अभियान के साथ जुड़ेंगे। अब यहां पर सड़कें चौड़ी होंगी, जलनिकासी की व्यवस्था होगी। नगर पंचायत का अपना कार्यालय होगा जो मिनी सचिवालय के रूप में कार्य करेगा। उन्होंने कहा कि हमने पिछले चार वर्ष में प्रदेश भर में सौ से अधिक नगर निकाय बनाए हैं। जिसमें चार तो अकेले महराजगंज जिले में हैं। यह कार्य विकास की एक नई सोच पैदा करने व रोजगार की संभावनाओं को आगे बढ़ाने के लिए किए जा रहे हैं।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सरकार 16 जनपदों के लिए एक पॉलिसी लेकर आ रही है, जिसके तहत बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने के लिए पीपीपी मोड में मेडिकल कॉलेज की स्थापना होने जा रही है। इसमें महराजगंज जिला भी शामिल है। आजादी के बाद प्रदेश में लगभग 100 वनटांगिया गांव थे। आज हमने महराजगंज के लगभग 18 गांवों को राजस्व गांव घोषित कर जनता को मतदाता सूची में शामिल किया है। पहली बार यहां ग्राम प्रधान का चुनाव होने जा रहा है। उन्होंने कहा कि मैं तो आज महराजगंज में 279.30 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं के लोकार्पण/शिलान्यास के अवसर पर सभी को हृदय से बधाई देता हूं। मैं महराजगंज जनपद के सभी नागरिकों को लगभग 280 करोड़ रुपये लागत की विकास परियोजनाओं के लोकार्पण/शिलान्यास के अवसर पर हृदय से बधाई देता हूं। आप सभी के लिए होली पर मंगलमय शुभकामनाएं व्यक्त करता हूं।