ब्रेकिंग
एक महीने में हुए चार 'दुराचारी सभा' में पहुंचे सिर्फ 844 हिस्ट्रीशीटर,दरी पर बैठना उन्हें नहीं पसंद बोले- 5 साल से कर रहा था तैयारी, अब बना राजस्थान का टॉपर गुरु अमरदास एवेन्यू के निवासियों ने ब्लॉक किया जीटी रोड, MLA के खिलाफ प्रदर्शन भूप्रेंद्र सिंह हुड्‌डा ने कहा गांधीवादी तरीके से करेंगे विरोध, सरकार रद्द करके अग्निपथ फर्जी दस्तावेज तैयार कर कब्जाई थी जमीनें, पुलिस की गिरेबान पर हाथ डालने के बाद आया था चर्चा में सनी नागपाल भुवनेश्वर कुमार तोड़ेंगे पाकिस्तानी गेंदबाज का रिकॉर्ड डेब्यू मैच में फ्लॉप रहे उमरान मलिक घर में रखा फ्रिज सिर्फ उपकरण नहीं, है वास्तु शास्त्र की रहस्मयी व्याकरण... इस दिशा में रखने से चमक जाता है भाग्य पंचायत के प्रथम चरण के चुनावों के बाद EVM का हुआ रेंडमाइजेशन  जी-7 समिट में हिस्सा लेने जर्मनी पहुंचे पीएम मोदी, प्रवासी भारतीयों ने गर्मजोशी से किया स्वागत

जिले में 250 वाहन में होती रहेगी पेट्रोलिंग

जबलपुर। होली पर्व में सुरक्षा व्यवस्था संभालने के लिए जिले में लगभग 250 वाहन पेट्रोलिंग के लिए लगाए है। जो लगातार शहर और देहात में भ्रमण करते हुए निगरानी करेगी। इसके अलावा जिले में ढ़ाई हजार से ज्यादा का बल तैनात किया जा रहा है।

ब्रीथ एनालायजर से की जाएगी चेकिंग: शहर के मुख्य स्थानों में फिक्स पैकेट्स और वैरियर लगाए गए है। वहीं सड़कों में घूमने वालों की जांच ब्रीथ एनालायजर से की जाएगी। यदि कोई नशे में मिलता है, तो उसपर सख्ती कार्रवाई की जाएगी।

गली, मोहल्लों में भी घूमता रहेगा वाहन: जिले में पुलिस जीप के अलावा भी प्राइवेट वाहनों को थानों में अटैच किया गया है। यह वाहन लगभग 72 से अधिक है, जो सभी थानों में जरूरत के हिसाब से दिए गए है। वाहनों में थाना स्टाफ की ड्यूटी लगाई गई है, जो लगातार भ्रमण करते रहेगे। इसके अलावा वह गली मोहल्लों में भी नजर रखेगे, ताकि किसी प्रकार कोई असुविधा नहीं हो। वहीं जिले में पुलिस के लगभग 150 के आसपास वाहन भी लगातार घूमते हुए व्यवस्थाओं पर नजर रखेगे।

नियमों का पालन करने करते रहेगे अनाउंसमेंट: कोरोना महामारी से बचने के लिए नियमों का पालन करने के लिए पुलिस वाहन से अनाउंसमेंट होता रहेगा। जिसमें मास्क पहनने और शारीरिक दूरी बनाकर चलने की बात कहीं जाएगी। पर्व में यदि कोई आयोजन या भीड़ में एकत्रित लोग दिखते है, तो उस आयोजक पर कार्रवाई कर दी जाएगी।

अधिकारी करते रहेगे मॉनिटरिंग: होली पर्व में व्यवस्थाएं के बारे में अधिकारी लगातार जायजा लेते रहेगे। वहीं यदि कोई भी विवाद की सूचना मिलती है, तो तत्काल संबंधित टीआइ को मौके पर पहुंचने के निर्देश दिए जाएगे। इसके अलावा उसमें क्या हुआ इसका भी रिपोर्ट ली जाएगी।