बाइडन से अमेरिकियों ने पूछे जॉब्‍स प्‍लान को लेकर तरह-तरह के सवाल, अधिकारियों ने दिए ये जवाब

वाशिंगटन। अमेरिकी राष्‍ट्रपति ने इसी सप्‍ताह अमेरिकन जॉब्‍स प्‍लान की औपचारिक घोषणा की है। उनके मुताबिक विश्‍व युद्ध के बाद से अब तक घोषित होने वाली ये सबसे बड़ी निवेश योजना है। उन्‍होंने इसको लेकर एक ट्वीट किया है जिसमें उन्‍होंने कहा है कि इस विशाल योजना से जुड़े अमेरिकियों के सवालों का जवाब वो और उनकी टीम देगी। आपको बता दें कि बाइडन इसको लेकर काफी उत्‍साहित है और सत्‍ता में आने के बाद से इस योजना पर उन्‍होंने काफी तेजी से काम किया है।

अपने ट्वीट में उन्‍होंने लिखा है कि वो इस सप्‍ताह अमेरिकन जॉब्‍स प्‍लान की घोषणा के तहत देश को मजबूती देने के लिए इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर पर खर्च होगा। इस प्‍लान के तहत 2030 तक देश के सभी घरों को ब्रॉडबैंड से जोड़ा जा सकेगा। बाइडन के इस ट्वीट के मुताबिक इस प्‍लान से जुड़े किसी भी सवाल को वो पूछ सकते हैं। इसका जवाब वो खुद और उनकी पूरी टीम देने के लिए तैयार रहेगी। लोगों की समस्‍या और सवालों का जवाब पूरे सप्‍ताह दिया जाएगा। इसमें लोगों ने पूछा है कि ये प्‍लान कैसे अलग है। इसके जवाब में बाइडन ने कहा कि जैसा की आप जानते हैं कि अमेरिका में हर चीज को आधुनिक रूप देना है। इसमें देश की सड़कें, एयरपोर्ट, पोर्ट, मास ट्रांजिट सिस्‍टम सब कुछ शामिल है। इन सभी के जरिए लोगों को जॉब्‍स मिलेंगी और उन्‍हें इसके लिए अच्‍छे पैसे दिए जाएंगे

इसके लिए प्रतिस्‍पर्धा बढ़गी। इसके बाद हमें कोई पीछे नहीं कर सकेगा क्‍योंकि हमारे पास मजबूत ढांचा होगा। ये प्‍लान हमें तेजी से और सुरक्षित तरीके से आगे बढ़ाएगा। एक अन्‍य महिला ने भी इसी तरह का सवाल किया है। इसके जवाब में व्‍हाइट हाउस की प्रेस सचिव जेन प्‍साकी ने कहा है कि ये एक अच्‍छा सवाल है। उन्‍होंने कहा है कि अमेरिकन रेस्‍क्‍यू प्‍लान एक इमरजेंसी पैकेज है। इसका अर्थ है कि ये मौजूदा समस्‍याओं से निपटने के लिए दिया गया है। इसके जरिए अमेरिका में भविष्‍य के लिए इंडस्‍ट्री में निवेश किया जाएगा। पूरे देश में निवेश का ढांचा तैयार किया जाएगा। इससे लाखों नौकरियों का सृजन होगा। लाखों लोग ब्रॉडबैंड से जुड़ेंगे। इससे लोगों को साफ पानी मिल सकेगा। साथ ही और बहुत कुछ इससे अच्‍छा होगा।

इस दौरान एक अन्‍य व्‍यक्ति ने पूछा कि इस प्‍लान के तहत किस तरह की नौकरियां पैदा होंगी। इसके जवाब में डायरेक्‍टर ऑफ द नेशनल इकनॉमिक काउंसिल ब्रायन डिसे ने कहा कि इसके जरिए पूरे देश में नौकरियां पैदा होंगी। सड़क, पुल, हाईवे, नए घर तैयार होंगे। साफ पानी के लिए लीड बेस्‍ड पाइप लाइन को बदला जाएगा। पूरे देश में रिसर्च एंड डेवलेपमेंट के लिए लैब्‍स तैयार होंगी जिनसे नई जानकारियां सामने आएंगी। देश क्‍लीन एनर्जी के लिए आगे बढ़ेगा। इस पैकेज से लोगों को सम्‍मान के साथ जीने का मौका मिलेगा। बुजुर्गों और उन लोगों को इस पैकेज से मजबूती मिलेगी जो दिव्‍यांग हैं। उनकी और अच्‍छे से देखभाल हो सकेगी।

एक व्‍यक्ति ने पूछा है कि ये जॉब्‍स प्‍लान क्‍लाइमेट चेंज के लिए कैसे सही है। इसका जवाब डिप्‍टी नेशनल क्‍लाइमेट एडवाइजर अली जैदी ने कहा कि इस प्‍लान के तहत घरों को अपग्रेड किया जाएगा। साथ ही ट्रांसपोर्ट सिस्‍टम को इलेक्ट्रीफाई किया जाएगा। इनोवेशन पर खर्च होगा। सप्‍लाई चैन को बेहतर किया जाएगा तो क्‍लाइमेट चेंज को रोकने में एक प्रभावी कदम होगा।

बाइडन पहले ही ये बता चुके हैं कि इस योजना के तहत कोरोना की मार से घुटनों पर आए अमेरिकियों को नौकरियां दी जाएंगी। ये जॉब्‍स प्‍लान केवल किसी एक क्षेत्र में जॉब्‍स पैदा नहीं की जाएंगी बल्कि ये कई क्षेत्रों में होगा। इस योजना के तहत देशभर में पानी की सप्‍लाई को लगी लीड बेस्‍ड पाइप लाइंस को बदला जाएगा। उनका कहना है कि लीड बेस्‍ड पाइप से बच्‍चे इसके प्रभाव में आते हैं। इसका असर धीरे-धीरे बच्‍चों पर पड़ता है जो लंबे समय में खतरनाक होता है। इसलिए 5 हजार डॉलर प्रति लाइन पर खर्च कर स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं पर पड़ने वाले 20 हजार डॉलर के खर्च को कम किया जा सकता है। ये काम काफी बेड़ा है जिसको देश भर के प्‍लंबर पूरा करेंगे। इससे लोगों को हर रतरह से साफ पानी उपलब्‍ध हो सकेगा।