ब्रेकिंग
एक महीने में हुए चार 'दुराचारी सभा' में पहुंचे सिर्फ 844 हिस्ट्रीशीटर,दरी पर बैठना उन्हें नहीं पसंद बोले- 5 साल से कर रहा था तैयारी, अब बना राजस्थान का टॉपर गुरु अमरदास एवेन्यू के निवासियों ने ब्लॉक किया जीटी रोड, MLA के खिलाफ प्रदर्शन भूप्रेंद्र सिंह हुड्‌डा ने कहा गांधीवादी तरीके से करेंगे विरोध, सरकार रद्द करके अग्निपथ फर्जी दस्तावेज तैयार कर कब्जाई थी जमीनें, पुलिस की गिरेबान पर हाथ डालने के बाद आया था चर्चा में सनी नागपाल भुवनेश्वर कुमार तोड़ेंगे पाकिस्तानी गेंदबाज का रिकॉर्ड डेब्यू मैच में फ्लॉप रहे उमरान मलिक घर में रखा फ्रिज सिर्फ उपकरण नहीं, है वास्तु शास्त्र की रहस्मयी व्याकरण... इस दिशा में रखने से चमक जाता है भाग्य पंचायत के प्रथम चरण के चुनावों के बाद EVM का हुआ रेंडमाइजेशन  जी-7 समिट में हिस्सा लेने जर्मनी पहुंचे पीएम मोदी, प्रवासी भारतीयों ने गर्मजोशी से किया स्वागत

जब एक साथ पहली बार टेस्ट मैच खेलने उतरे जुड़वा भाई, रचा था देश के लिए इतिहस

नई दिल्ली। आज से ठीक 30 साल पहले ऑस्ट्रेलिया के दो खिलाड़ियों ने इतिहास रचा था। जी हां, 5 अप्रैल 1991 को ऑस्ट्रेलियाई के मार्क वॉ और स्टीव वॉ अपने देश के लिए एक टेस्ट मैच में एक साथ खेलने वाले जुड़वा भाई बने थे। ये पहली ऐसी जोड़ी थी, जो जुड़वा भाईयों की थी। इस जोड़ी ने त्रिनिदाद में तीसरे टेस्ट में वेस्टइंडीज के खिलाफ ये उपलब्धि हासिल की। पहली बार जुड़वा भाई कोई अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच खेलने उतरे थे।

ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज के बीच ये मैच ड्रा के रूप में समाप्त हुआ। वेस्टइंडीज के खिलाफ खेल में, स्टीव वॉ 26 रन बनाने में सफल रहे और उन्हें दूसरी पारी में बल्लेबाजी करने का मौका नहीं मिला। दूसरी ओर, पहली पारी में वार्क वॉ 64 रन की पारी खेलने में सफल रहे। ऑस्ट्रेलिया की पहली पारी 294 रनों पर सिमट गई थी, जबकि वेस्टइंडीज को 227 रनों पर समेट दिया गया था, जिससे मेहमान टीम ने 67 रनों की बढ़त हासिल की।

वॉ भाईयों आखिरकार एक साथ 108 टेस्ट मैच खेले। अपने डेब्यू के बारे में बात करते हुए, स्टीव वॉ ने 1985 में भारत के खिलाफ बॉक्सिंग डे टेस्ट में पदार्पण किया, जबकि मार्क वॉ ने अपना पहला टेस्ट 6 साल के बाद 1991 में इंग्लैंड के खिलाफ ओवल में खेला था। स्टीव वॉ सबसे महान ऑस्ट्रेलियाई कप्तान बन गए और उन्होंने 1999 में टीम के साथ विश्व कप जीतने में भी कामयाबी हासिल की।

स्टीव वॉ ने ऑस्ट्रेलिया के लिए 168 टेस्ट और 325 एकदिवसीय मैच खेले हैं, जबकि मार्क वॉ ने 128 टेस्ट और 244 एकदिवसीय मैचों में भाग लिया। हाल ही में, ऑस्ट्रेलियाई टीम के महान स्पिनर शेन वार्न ने अपने महान ऑस्ट्रेलियाई टेस्ट इलेवन को चुना था। इस टीम में उन्होंने दोनों वॉ भाइयों को चुना था। ये दर्शाता है कि वे किस तरह के खिलाड़ी थी।