ब्रेकिंग
CG में पहली बारिश और पहली मौत: आकाशीय बिजली की चपेट में आया शख्स, 19 जिलों में अलर्ट के बीच झमाझम बरसे बदरा 14 लाख किसानों को स्लाट बुक कराने पर मिलेगा समर्थन मूल्य पर गेहूं बेचने का मौका युवती के घर Love Proposal लेकर पहुंचा प्रेमी, युवती ने ठुकराया तो... भोपाल के मिशनरी स्कूल में धर्मांतरण: बाप-बेटी समेत 4 आरोपी गिरफ्तार, संचालक फरार, क्रिश्चियन बनने से गरीबी दूर करने का दिया जा रहा था प्रलोभन कांग्रेस नेता का हार्दिक पटेल पर पलटवार, कहा- पार्टी का प्रदेश कार्यकारी प्रमुख बनाया पटरी पर दौड़ी 'मौत' की ट्रेन: एक का सिर धड़ से मिला अलग, तो दूसरे की नग्न अवस्था में टुकड़ों में मिली लाश, पढ़िए ट्रैक पर मौत की खौफनाक कहानी किससे जुड़े हैं गुना हत्याकांड के तार ? BJP नेताओं के साथ आरोपियों की तस्वीरें वायरल, MLA जयवर्धन ने कहा- अपराधियों और बीजेपी नेताओं की निकाली जाए कॉल... आत्मानंद स्कूल के इन छात्रों ने मेरिट लिस्ट में बनाई जगह कथा स्थल में नारियल वितरण के दौरान मची भगदड़, 16 महिलाएं घायल, इधर 576 दिन से नर्मदा परिक्रमा कर रहे संत समर्थ सदगुरु की बगड़ी तबीयत भगवान गौतम बुद्ध के 12 अनमोल वचन

नशे की लत पूरा करने युवा और नाबालिग बन रहे अपराधी

रायपुर।  राजधानी रायपुर में चोरी, लूट, चाकूूबाजी आदि घटनाओं में सबसे अधिक नाबालिग और युवाओं की संलिप्तता सामने आई है। पुलिस इन्हें गिरफ्तार कर जेल भी भेज रही है। बावजूद इसके नए-नए नाबालिगों की अपराध को अंजाम देने से पीछे नहीं हट रहे है। अधिकांश नाबालिग व युवा नशे की लत के शिकार है। नशे की पूर्ति करने के लिए ही ये गंभीर घटनाओं को अंजाम दे रहे है।

विशेषज्ञों का दावा है कि स्वजनों के ध्यान नहीं देने से उनके बच्चे नशे के आदि बनकर अपराध के रास्ते पर चल पड़े है। एक साल के भीतर ही सौ से अधिक नाबालिग अलग-अलग मामले में गिरफ्तार हो चुके है। इनमें हत्या के भी कई प्रकरण शामिल है।

राजधानी पुुलिस अपराधियों पर नकेल कसने के लिए दिन रात मशक्कत कर रही है, बावजूद इसके अपराधी लगातार अपराध को अंजाम देने से बाज नहीं आ रहे है। दरअसल रायपुर में नशे का ट्रेंड बदल रहा है। इसकी वजह से चाकूबाजी, हत्या से लेकर अन्य तरह के अपराध भी बढ़ रहे हैं। ज्यादातर अपराधिक घटनाओं में युवा और नाबालिगों की संलिप्तता सामने आ रही है। यह काफी चिंताजनक है।

शहर में हुक्का, कफ सिरप, नशीली टेबलेट, कोकीन, ब्राउन शुगर, गांजा आदि मादक पदार्थ बेचने वालो के खिलाफ पुलिस ताबड़तोड़ कार्रवाई भी कर रही है। पिछले साल नशे के रैकेट को तोड़ने रायपुर समेत गोवा, मुंबई, दिल्ली के 20 से अधिक ड्रग पैडलरों को गिरफ्तार कर उन्हें सलाखों के पीछे भी पहुंचाया गया। बावजूद इसके दूसरे राज्यों से मादक पदार्थों की तस्करी थमने का नाम नहीं ले रही है।

केस वन: थाने में मा करवाया स्टाइलिश चाकू

अपराध में नाबालिग व किशोर वर्ग की संलिप्तता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि पिछले दिनों आनलाइन धारदार स्टाइलिश चाकू मंगवाने वाले 119 नाबालिगों की सूची तैयार कर पुलिस ने उनके पालकों को थाने बुलवाकर न केवल चाकू जमा करवाया बल्कि समझाइश भी दी।

केस टू: हत्या में शामिल रहा नाबालिग

15 मार्च को डीडीनगर इलाके के चंगोराभाठा स्थित बीएसयूपी कालोनी में पैसे के लेनदेन के विवाद में मां-बेटे के साथ एक नाबालिग ने मिलकर गोंदवारा निवासी ओमप्रकाश यादव की हत्या कर दी थी। पुलिस ने जांच के बाद तीनों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया था।

केस थ्री: नशे के लिए वाहनों की चोरी

मार्च 2021 में ही चोरी की 10 दोपहिया वाहन के साथ दो आरोपितों प्रेम मानिकपुरी और हर्षित झा को पुलिस ने गिरफ्तार किया। पुलिस की पूछताछ में दोनों आरोपितों ने नशे की लत को पूरा करने के लिए वाहन चुराकर उसे बेचने की जानकारी दी थी।

केस फोर: युवक की चाकू से गोदकर हत्या

टिकरापारा इलाके में नाबालिग बदमाशों ने नशे की हालत में एक युवक की चाकू से गोदकर हत्या कर दी थी। हत्या की इस घटना का बाकायदा मोबाइल से वीडियो भी बनाया। इंटरनेट मीडिया में जब यह वीडियो वायरल हुआ तब पुलिस हरकत में आई थी

पुलिस का पक्ष

‘अभिभावक अपनी व्यस्तता से समय निकालकर बच्चों को वक्त दें। समस्या होने पर उसका सामधान करें। असामाजिक तत्व बच्चों को नशा कराकर उनसे गलत काम कराते है। शहर में गांव के मुकाबले ज्यादा अपराध हो रहे है, क्योंकि गांव में अभी भी नैतिकता बची हुई है। स्लम एरिया के नाबालिग नशे की गिरफ्त में है।’

– अभिषेक माहेश्वरी, एडिशनल एसपी क्राइम