ब्रेकिंग
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने स्टेट कैंसर इंस्टीट्यूट का किया वर्चुअल भूमि पूजन कुतुब मीनार परिसर में होगी खुदाई-मूर्तियों की Iconography राष्ट्रीय स्तर के खेलों का आधारभूत ज्ञान दें विद्यार्थियों को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत जिले के 13 हजार 976 किसानों के खाते में 9.68 करोड़ रूपए किया अंतरण नगरीय निकाय आरक्षण को लेकर बड़ी खबर: भोपाल में भी नए सिरे से होगा आरक्षण, बढ़ सकती है ओबीसी वार्डों की संख्या छत्तीसगढ़ की जैव विविधता छत्तीसगढ़ का गौरव है : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल मोतिहारी के सिकरहना नदी में नहाने के दौरान तीन बच्चे डूबे मुजफ्फरपुर में प्रिंटिंग प्रेस कर्मी की गोली मारकर हत्‍या  दो माह में 13 बार बढ़ी सीएनजी की कीमत हार्दिक के जाने के बाद नरेश पटेल को रिझाने में जुटी कांग्रेस

जानलेवा हमला करने वाले पिता-पुत्र को सजा, जेल भेजा

ग्वालियर। अपर सत्र न्यायालय ने जानलेवा हमला करने वाले आरोपित दीपक किरार निवासी गुढ़ा को पांच साल व उसके पिता मुन्नालाल को आयुध अधिनियम के तहत छह माह के कारावास की सजा सुनाई। आरोपितों को जेल भेज दिया है। आरोपित की मां को दोषमुक्त कर दिया है।
अतिरिक्त शासकीय अधिवक्ता माता प्रसाद बरुआ ने बताया कि गजेंद्र सिंह ने 15 अक्टूबर 2016 को माधोगंज थाने को सूचना दी कि वह गुढ़ा स्थित अपने मकान में किराने की दुकान चलाता है। मां सुबह दरवाजे पर सफाई कर रही थी। इसको लेकर पड़ोस में रहने वाला दीपक किरार झगड़ा करने लगा। जब विरोध किया तो दीपक ने 12 बोर की बंदूक लेकर आ गया और गोली चला दी, जिससे पास खड़े अतर सिंह, सुनीत कुशवाह और नत्थाराम बघेल को छर्रे लगे और वे घायल हो गए। सभी को ट्रामा सेंटर में इलाज के लिए भर्ती कराया गया। शिकायत पर माधोगंज थाना पुलिस ने आरोपित दीपक व उसके पिता मुन्नालाल किरार, मां रामकली के खिलाफ केस दर्ज किया। पुलिस ने जांच के बाद चालान पेश कर दिया। आरोपित की ओर से बचाव में कहा गया कि उसका पहला अपराध है। पूर्व में भी पुलिस अभिरक्षा में रह चुका है। सजा देने में नरमी बरती जाए। पुलिस की ओर से अतिरक्त शासकीय अधिवक्ता बरुआ ने तर्क दिया कि आरोपित ने गंभीर अपराध को अंजाम दिया है, इसलिए कड़ी सजा दी जाए।