ब्रेकिंग
डोमेस्टिक का चार्ज लगेगा, बिजली बिलों में 2 रुपए प्रति यूनिट का मिलेगा फायदा एक महीने में हुए चार 'दुराचारी सभा' में पहुंचे सिर्फ 844 हिस्ट्रीशीटर,दरी पर बैठना उन्हें नहीं पसंद बोले- 5 साल से कर रहा था तैयारी, अब बना राजस्थान का टॉपर गुरु अमरदास एवेन्यू के निवासियों ने ब्लॉक किया जीटी रोड, MLA के खिलाफ प्रदर्शन भूप्रेंद्र सिंह हुड्‌डा ने कहा गांधीवादी तरीके से करेंगे विरोध, सरकार रद्द करके अग्निपथ फर्जी दस्तावेज तैयार कर कब्जाई थी जमीनें, पुलिस की गिरेबान पर हाथ डालने के बाद आया था चर्चा में सनी नागपाल भुवनेश्वर कुमार तोड़ेंगे पाकिस्तानी गेंदबाज का रिकॉर्ड डेब्यू मैच में फ्लॉप रहे उमरान मलिक घर में रखा फ्रिज सिर्फ उपकरण नहीं, है वास्तु शास्त्र की रहस्मयी व्याकरण... इस दिशा में रखने से चमक जाता है भाग्य पंचायत के प्रथम चरण के चुनावों के बाद EVM का हुआ रेंडमाइजेशन

दुनिया में जीना है तो मास्क पहन प्यारे

बिलासपुर।  अटल बिहारी वाजपेयी विश्वविद्यालय अकादमिक शिक्षण संस्थान, राष्ट्रीय सेवा योजना और शिक्षक संघ द्वारा 10 फीट का प्रतीकात्मक मास्क साझा किया गया। प्राध्यापकों ने प्रशासनिक भवन के समक्ष इस मास्क को सार्वजनिक रूप से दिखाते हुए लोगों से मास्क पहनने की अपील की। संदेश दिया कि दुनिया में जीना है तो मास्क पहन प्यारे।

न्यायधानी में कोरोना का संक्रमण तेजी से फैल रहा है। मास्क और शारीरिक दूरी का पालन करने में लोग बड़ी लापरवाही बरत रहे हैं। इसका परिणाम है कि प्रतिदिन संक्रमितों की संख्या पांच सौ से ऊपर पहुंच चुकी है। खतरे को देखते हुए गुरुवार को प्रतरकात्मक मास्क दिखाकर लोगों से अपील की गई कि वे अनिवार्य रूप से मास्क पहनें।

कुलपति प्रो.अरुण दिवाकर नाथ वाजपेयी ने इस अनाखे प्रयास की प्रशंसा की। राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्यक्रम अधिकारी सहायक प्राध्यापक गौरव साहू ने कहा कि भीड़भाड़ वाली जगहों पर जाने से लोगों को बचना चाहिए। कोविड-19 के दिशा निर्देशों का पालन सभी के लिए जरूरी है। मास्क पहनने से न केवल खुद बल्कि परिवार और समाज की भी सुरक्षा होती है।

शिक्षक संघ अध्यक्ष सहायक प्राध्यापक सौमित्र तिवारी ने कहा कि संक्रमण का दूसरा चरण खतरनाक है। प्रयास करना चाहिए कि घर में रहकर जरूरी काम निपटाएं। सतर्कता बरतें और नियमित व्यायाम कर सेहतमंंद बने रहें। इम्युनिटी बढ़ाने वाली चीजों को खाएं। सचिव हामिद अब्दुल्लाह ने कहा कि घर से निकलने से पूर्व मास्क जरूर पहनें। हाथों को नियमित धोएं और सैनिटाइजर का प्रयोग करें। इस दौरान प्रमुख रूप से सुमोना भट्टाचार्य और सूरज सिंह राजपूत भी श्ाामिल थे।