ब्रेकिंग
विधानसभा विशेष सत्र। विधानसभा सत्तापक्ष पर जमकर बरसे विधायक शिवरतन शर्मा, आरक्षण रुकवाने जो लोग कोर्ट गए उन्हें मुख्यमंत्री जी पुरस्कृत करते हैं,सत्र ... Selecting the right Virtual Info Room Supplier रायपुर विधानसभा विशेष सत्र। विधानसभा में आरक्षण बिल के दौरान ब्राह्मण नेताओं पर जमकर बरसे बलौदाबाजार विधायक प्रमोद शर्मा, उनके मुंह पर करारा तमाचा मार... Making a Cryptocurrency Beginning अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद भाटापारा नगर इकाई की हुई घोषणा मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने मंडी समिति के नए सदस्य को दिलाई शपथ, उद्बोधन में कहा भारसाधक पदाधिकारीयो की नियुक्ति के बाद से मंडी लगातार चहुमुखी विकास क... मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने धान ख़रीदी केंद्रो का निरीछन कर, धान बेचने आये किसानो से मुलाक़ात कर, धान बेचने में आने वाली समस्या की जानकारी ली, किसानों... ग्राम मर्राकोना में नवीन धान उपार्जन केंद्र के शुभारंभ अवसर पर मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने कहा भूपेश सरकार किसानों की सरकार है ग्राम मर्राक़ोंना में नवीन धान उपार्जन केंद्र को मिली हरी झंडी मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने दी जानकारी ट्रक चोरी करने वाले 06 आरोपियो को किया गया गिरफ्तार, मंडी के पास लिंक रोड के किनारे खड़ी ट्रक को किया था चोरी, उड़ीसा से हुई बरामद

कैट का धरना 13 अप्रैल को, दुकानों पर लगाएंगे काले झंडे

ग्वालियर। मैरिज गार्डन की क्षमता से आधे लोगों को शादी समारोह में शामिल होने व रेस्टारेंट में खाना खिलाने की अनुमति दी जाए। प्रतिबंध के कारण आर्थिक गतिविधियों के रुकने का हवाला देते हुए कैट ने यह मांग मुख्यमंत्री से की हैं। बुधवार को कैट बाजार संयोजकों की बैठक दाल बाजार स्थित कार्यालय में आयोजित की गई। बैठक में कैट के जिला संयोजक दीपक पमनानी, प्रदेशाध्यक्ष भूपेंद्र जैन, जिलाध्यक्ष रवि गुप्ता, बाजार संयोजक आशुतोष द्विवेदी, दिलीप पंजवानी, महेंद्र भदकारिया, अनिल पुनियानी, मनोज ढींगरा, आदि मौजूद रहे। निर्णय लिया गया कि उक्त मांगे जब तक नहीं मानी जाती हैं, तब तक सभी दुकानदार अपनी दुकान पर काले झंडे व मांगों के समर्थन में बैनर लगाएंगे। 13 अप्रैल को सुबह 11 से शाम 7 बजे तक इंदरगंज चौराहे पर धरना प्रदर्शन किया जाएगा।

कैट के सदस्‍यों का कहना था कि पिछले लॉकडाउन में ही व्‍यापारियों व कारोबारियों की आर्थिक कमर टूट चुकी है। ऐसे में यदि कोरोना को देखते हुए प्रतिबंध या लॉकडाउन आदि लगाए जाते हैं तो कारोबारियों व उनसे जुडे मजदूरों के लिए खासी मुश्किल होगी। प्रशासन कोरोना गाइड लाइन का सख्‍ती से पालन कराए। लेकिन ऐसे प्रतिबंध नहीं लगाए जिससे कारोबारियों को मुश्किल हो। इसलिए संस्‍था के पदाधिकारी कारोबारियों व व्‍यापारियों के पक्ष में धरना देंगे।