ब्रेकिंग
ना बैनर लगाऊंगा, ना पोस्टर लगाऊंगा, ना ही किसी को एक कप चाय पिलाऊंगा, उसके बाद भी अगले लोकसभा चुनाव में भारी मतों से चुन कर आऊंगा, यह मेरा अहंकार नहीं... नए जिला बनाने पर बड़ा बयान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के ऐसे बयान की किसी को नही थी उम्मीद छत्तीसगढ़ में लगातार पांचवे उपचुनाव में कांग्रेस जीती, भाटापारा मंडी में जमकर हुई आतिशबाजी, मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने कहा भानूप्रतापपुर की जीत मुख्य... Anti virus For Business Endpoints Choosing Board Webpage Providers 5 Reasons to Ask Someone to Write My Essay For Me 5 Reasons to Ask Someone to Write My Essay For Me Avast Password Off shoot For Stainless- Antivirus Review - How to Find the very best Antivirus Computer software आर्थिक आधार से गरीब लोगों के आरक्षण में कटौती के विरोध में आज भाटापारा अनुविभागीय अधिकारी के कार्यालय जाकर राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा गया

किसान नेता राकेश टिकैत के ताजा बयान से फिर बढ़ने वाली है दिल्ली-NCR के लोगों की टेंशन

साहिबाबाद। नए कृषि कानून के खिलाफ किसानों का आंदोलन जारी है। सिंघु, कुंडली और गाजीपुर बॉर्डर पर किसान सरकार के विरोध में जमे हुए हैं। भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा है कि शनिवार को केएमपी (कुंडली मानेसर पलवल एक्सप्रेसवे) जाम करेंगे।

8 बजे से 11 अप्रैल सुबह 8 बजे तक कुंडली मानेसर ,पलवल एक्सप्रेसवे को जाम किया जाएगा

किसानों की ओर से जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार यह बताया गया है कि संयुक्त मोर्चा के आह्वान पर 10 अप्रैल को सुबह 8 बजे से 11 अप्रैल सुबह 8 बजे तक कुंडली मानेसर ,पलवल एक्सप्रेसवे को जाम किया जाएगा। गाजीपुर बॉर्डर की बैठक में इस पर विचार करके इसमे निर्णय लिया गया कि इस क्रम में कल डासना पर जाम किया जाएगा।

आवश्यक सेवावालों को मिली छूट

शनिवार को डासना में राकेश टिकैत भी शामिल रहेंगे। जाम में शव वाहन, एम्बुलेंस, शादी वाहन, आवश्यक वस्तु वाहन, को छूट दी जाएगी।अगर महिलाओं की गाड़ी फंस जाती है तो उनको नीचे उतरने की छूट दी जायेगी। राकेश टिकैत ने भी जनता से अपील करते हुए कहा कि शनिवार को आप केएमपी का प्रयोग न करें। हम आपको परेशान नहीं करना चाहते हैं।

धरने पर रहेगा चाय और खाने का इंतजाम

14 अप्रैल को गाजीपुर बॉर्डर पर बहुजन किसान एकता दिवस मनाया जाएगा। इसमे मंच बहुचन समाज के लिए रहेगा। इस कार्यक्रम में डॉ भीमराव अंबेडकर जी को याद किया जाएगा। धरने पर खाने, चाय, दूध का इंतजाम किया जाएगा। सभी को कानूनों से संबंधित पर्चे का वितरण भी कराया जाएगा। यह जानकारी भाकियू के मीडिया प्रभारी के धर्मेन्द्र मलिक ने दी है

टीकरी बार्डर पर जाएंगे प्रदर्शनकारी

इधर, जिले में राजीव चौक पर पिछले कई दिनों से संयुक्त किसान मोर्चा के बैनर तले काफी लोग अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हुए हैं। सभी टीकरी बार्डर पर केएमपी एक्सप्रेस-वे को जाम करने के लिए पहुंचेंगे। मोर्चा के अध्यक्ष व वरिष्ठ अधिवक्ता संतोख सिंह ने बताया कि प्रदर्शन को लेकर जगह-जगह पहले से ही निर्धारित है। उन्हीं जगहों पर प्रदर्शन किया जाएगा। उनका कहना है कि केंद्र सरकार जब तक तीनों कृषि कानून को रद्द नहीं कर देती है तब तक प्रदर्शन जारी रहेगा। शुक्रवार को धरने में जयप्रकाश, अनिल पंवार, नवनीत रोजखेड़ा, योगेंद्र सिंह, संजय सेन, ईश्वर सिंह, मनीष मक्कड़, हरि सिंह चौहान, तनवीर अहमद, महासिंह ठाकरान, रणबीर सिंह ठाकरान एवं प्रेम सिंह सहरावत आदि शामिल हुए। वहीं, कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शनकारियों द्वारा केएमपी एक्सप्रेस-वे जाम करने के मद्देनजर गुरुग्राम पुलिस हाई अलर्ट मोड पर रहेगी।