मस्जिद में मजमा लगाकर पढ़ी नमाज, मौलवी-व्यवस्थापक पर केस

इंदौर। कोविड-19 की गाइडलाइन को लेकर पुलिस व प्रशासन सख्त है। उल्लंघन करने वालों पर कार्रवाई हो रही है। शुक्रवार को तो भीड़ लगाकर नमाज अता करने पर प्रकरण दर्ज कर लिया। मौके की वीडियोग्राफी करवाई और मौलवी व व्यवस्थापक को नामजद आरोपित बनाया जबकि 40 अज्ञात लोगों का जिक्र किया है।

जूनी इंदौर थाना पुलिस के मुताबिक सूचना मिली थी कि एलए अजीज मस्जिद अशोका कालोनी में कलेक्टर के आदेश के बावजूद भीड़ लगा कर 30 से 40 लोग दोपहर की नमाज अता कर रहे हैं। पुलिस और प्राशसनिक अफसरों की टीम पहुंची तथा मौके की वीडियोग्राफी करवाई। कलेक्टर के निर्देशों की अवहेलना पाए जाने पर व्यवस्थापक मो.रियाज और मौलवी इशाक के विरुद्ध धारा 188 के तहत केस दर्ज कर लिया।

स्टोन व्यवसायी सहित तीन पर केस

पुलिस ने कोविड-19 की गाइडलाइन का उल्लंघन करने पर किसी को नहीं छोड़ा। कनाड़िया थाना में स्टोन दुकान संचालक और दो अन्य दुकानकारों पर तीन केस दर्ज हुए। टीआइ राजीवसिंह भदौरिया के मुताबिक लाकडाउन अवधि में भी कनाड़िया रोड स्थित श्रीराम स्टोन की दुकान खुली हुई थी। पुलिस ने संचालक मुकुंद गुप्ता के खिलाफ केस दर्ज कर लिया। इसी तरह हार्ड वेयर दुकान संचालक आकाश हिरोलिया और बिल्डिंग मटेरियर की दुकान के संचालक नितिन जैन के खिलाफ भी केस दर्ज हुआ है।

एसपी का सख्त संदेश

शनिवार-रविवार को लाकडाउन का पालन करवाने के लिए शहर के चप्पे-चप्पे में पुलिस तैनात है। पश्चिम क्षेत्र के एसपी ने शुक्रवार दोपहर एक वीडियो जारी कर कहा कि पुलिस उल्लंघन करने वालों को अच्छे से सबक सिखाएगी। इस महामारी में स्वयं भी और दूसरों का भी ख्याल रखें।