ब्रेकिंग
उदयपुर हत्याकांड के विरोध में बंद रहा बाजार, चप्पे-चप्पे पर तैनात रहे जवान यूपीएसएसएससी पीईटी नोटिफिकेशन जारी काशी विश्वनाथ धाम में अब बज सकेगी शहनाई, होंगी शादियां प्रदेश में मंत्री से लेकर संतरी तक भ्रष्टाचार में संलिप्त, भ्रष्टाचारियों की गिरफ्तारी के मुद्दे पर आप लड़ेगी निगम चुनाव अज्ञात युवकों ने कॉलेज कैंटीन में बैठे 3 छात्रों पर किया तेजधार हथियार से हमला; 1 की हालत गंभीर सिवनी कोर्ट परिसर में न्यायाधीशों समेत 27 ने किया रक्तदान, वितरित किए प्रमाण पत्र पड़ोस में रहने आयी छात्रा से जान पहचान बना डिजिटल रेप करने वाले आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार लोगों ने की आरोपियों को फांसी की सजा देने की मांग, टायर जलाकर की नारेबाजी 12 जुलाई को देवघर जाएंगे पीएम मोदी रिलायंस जिओ डीटीएच प्लान्स ऑफर और आवेदन की जानकारी | Reliance Jio DTH Setup Box Plan Offer Online Booking Information in hindi

तीन साल पहले इंटरनेट पर दोस्ती हुई, शादी का झांसा देकर दुष्कर्म किया

ग्वालियर। यूनिवर्सिटी थाना पुलिस ने एक युवती की शिकायत पर शैलेंद्र द्विवेदी निवासी पन्ना के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज कर लिया है। पीड़िता ने बताया कि आरोपित से उसकी दोस्ती इंटरनेट मीडिया के माध्यम से हुई थी। आरोपित तीन साल से शादी का झांसा देकर उसका शोषण कर रहा था।

कंपू निवासी एक युवती ने शुक्रवार को शिकायत कर बताया कि इंटरनेट मीडिया के माध्यम से उसकी दोस्ती शैलेंद्र द्विवेदी से हुई थी। आरोपित उसे आकाशवाणी तिराहे पर स्थित होटल सीता मैनोर में ले गया। जहां आोरोपित ने उसके साथ गलत काम किया। आरोपित पिछले तीन साल से शादी करने का वादा कर रहा था। अब शादी करने से मुकर गया। यूनिवर्सिटी थाना प्रभारी रामनरेश यादव ने बताया कि दुष्कर्म के मामले में नामजद आरोपित की तलाश की जा रही है।

वन स्टाप सेंटर युवती ने जीजा के खिलाफ दर्ज कराया दुष्कर्म का मामलाः वन स्टाप सेंटर में रह रही एक युवती ने शिकायत कर बताया कि वह उसका बहनोई सात साल से उसके गलत काम कर रहा है। आरोपित उसे बहन के बीमार होने का बहाना बनाकर ले गया था। 12 साल की उम्र में उसने पहली बार उसके साथ गलत काम किया। इस बात का पता उसकी बहन को भी था। पुलिस ने युवती की शिकायत पर जांच कर रही है। युवती कुछ दिन पहले युवक के साथ चली गई थी। पुलिस ने बरामद कर उसे कोर्ट में पेश किया। युवती ने अपने घर जाने से इंकार कर दिया था। और कोर्ट ने वन स्टाप सेंटर भेज दिया था। उसने यह लिखित बन स्टाफ सेंटर के स्टाफ के माध्यम से पुलिस तक पहुंचाई थी।