Jain
ब्रेकिंग
महू में दो गुटों में विवाद के बाद बम फोड़ा; 2 की मौत, 15 से ज्यादा घायल रोटी भी बदल सकती है किस्मत डीजीपी का सिल्वर मेडल भी आज लखनऊ में देंगे एडीजी जोन,खुशी की लहर देर शाम आई सभी के पास प्रशासन फोन कॉल, 30 स्वतंत्रता सेनानियों के आश्रितों किया गया था आमंत्रित आजादी के अमृत महोत्सव के लिए रंग बिरंगी रोशनियों से सजा ग्वालियर दुगरी फेस-1 में हुआ हमला,अदालत में गवाही न देने के लिए हमलावर बना रहे थे दबाव भाजयुमो के मंत्री ने कार के सन रूफ से निकलकर झंडे की फोटो की थी पोस्ट 100 फूट ऊंचा लहरा रहा तिरंगा,लाइटों से जगमगाया शहर, दुल्हन की तरह सजी सड़कें रैली निकालकर लगाए भारत माता की जयकारे, बच्चों और ग्रामीणों ने किया समरसता भोज राजस्व एवं आपदा प्रबंधन मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने किया ध्वजारोहण

सीआइडी देख लूट का षड़यंत्र रचा, डिलीवरी बाय बन घर में घुसे, दो गिरफ्तार

इंदौर। सात वर्षीय मान्या की मदद से जूनी इंदौर थाना पुलिस ने लूटेरे हिमांशू रोहरा और गोरांश को गिरफ्तार कर लिया। आरोपित मान्या की मां केशर वाधवानी को लूटने का प्रयास कर रहे थे। गौरांश ने केशर की गर्दन पर चाकू अड़ा दिया था। टीआइ आरएनएस भदौरिया के मुताबिक लूट का षड़यंत्र धारावाहिक क्राइम पेट्रोल और सीआइडी देख कर रचा था। गुरुवार को ही मुंह पर चिपकाने के लिए टेप, कटर और चाकू खरीदा था।

एसपी (पश्चिम) महेशचंद जैन के मुताबिक घटना शुक्रवार सुबह करीब 11 बजे पलसिकर कॉलोनी की है। पुलिस ने 35 वर्षीय केशर पति सचिन वाधवानी की शिकायत पर आरोपित गोरांश पुत्र प्रदीप निवासी सुदामा नगर और हिमांशु पिता हरीश रोहरा निवासी फूटीकोठी को गिरफ्तार किया है। सचिन का गारमेंट्स का व्यवसाय है। उन्होंने बताया कि घर में पत्नी केशर बेटी मान्या के साथ काम कर रही थी। तभी एक आरोपित ने दरवाजा खटखटाया और कहा वह कोरियर कंपनी की डिलीवरी बॉय है और कबीर का पार्सल लेकर आय़ा है। जैसे ही महिला ने दरवाजा खोला आरोपित ने फिल्मी अंदाज में गर्दन पर चाकू अड़ा दिया और गला काटने की धमकी देकर अंदर ले गया। उसने कहा घर में जो भी माल है वो निकाल दो वरना गर्दन काट कर अलग कर दूंगा। केशर ने शोर मचाया तो घर में मौजूद बेटी मान्या बचाने दौड़ी लेकिन बदमाश ने थप्पड़ मार कर गिरा दिया। महिला ने संघर्ष करने का प्रयास किया और मान्या से कहा जल्दी दौड़ कर बाहर से अंकल को बुला।

बदमाश ने कोडवर्ड में बोला बेबी इज आउट, बाहर खड़ा बदमाश भाग गया

सचिन के मुताबिक मान्या ने हिम्मत दिखाई और मां को लड़ते देख वह रोते हुए बाहर गई और पड़ोसियों को आवाज लगाई। केशर से रुपये व जेवर मांग रहे गौरांश के कानों में ब्लूटूथ लगे थे और उसका फोन चालू था। जैसे ही बच्ची बाहर गई उसने बाहर खड़े हिमांशू से कोडवर्ड में कहा बेबी इज आउट। हिमांशु मदद के लिए अंदर आने ही वाला था कि मान्या पड़ोसियों को लेकर आ गई। लोगों ने गौरांश को मौके पर पकड़ लिया और जमकर पिटाई की। बैग की तलाशी लेने पर कटर और मुंह पर चिपकाने के लिए रखा टेप मिला। थोड़ी देर बाद पुलिस भी पहुंच गई और घेराबंदी कर हिमांशु को भी गिरफ्तार कर लिया।

टीआइ के मुताबिक आरोपित हिमांशु की मां अनिता सचिन के घर में काम करती थी। हिमांशु को पता था कि सचिन सुबह दुकान पर चले जाते है और केशर घर में अकेली रहती है। उसने गौरांश के साथ मिलकर लूट का षड़यंत्र रचा और एक दिन पहले ही चाकू, कटर खरीद लिया। आरोपितों ने एक नकली पार्सल भी बना लिया था।