ब्रेकिंग
एक महीने में हुए चार 'दुराचारी सभा' में पहुंचे सिर्फ 844 हिस्ट्रीशीटर,दरी पर बैठना उन्हें नहीं पसंद बोले- 5 साल से कर रहा था तैयारी, अब बना राजस्थान का टॉपर गुरु अमरदास एवेन्यू के निवासियों ने ब्लॉक किया जीटी रोड, MLA के खिलाफ प्रदर्शन भूप्रेंद्र सिंह हुड्‌डा ने कहा गांधीवादी तरीके से करेंगे विरोध, सरकार रद्द करके अग्निपथ फर्जी दस्तावेज तैयार कर कब्जाई थी जमीनें, पुलिस की गिरेबान पर हाथ डालने के बाद आया था चर्चा में सनी नागपाल भुवनेश्वर कुमार तोड़ेंगे पाकिस्तानी गेंदबाज का रिकॉर्ड डेब्यू मैच में फ्लॉप रहे उमरान मलिक घर में रखा फ्रिज सिर्फ उपकरण नहीं, है वास्तु शास्त्र की रहस्मयी व्याकरण... इस दिशा में रखने से चमक जाता है भाग्य पंचायत के प्रथम चरण के चुनावों के बाद EVM का हुआ रेंडमाइजेशन  जी-7 समिट में हिस्सा लेने जर्मनी पहुंचे पीएम मोदी, प्रवासी भारतीयों ने गर्मजोशी से किया स्वागत

कोरोना के नियंत्रण और रोकथाम के लिए गाइडलाइन का करें पालन

रायपुर।कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए सरकार जन जागरूकता अभियान चला रही है। रायपुर संभाग के आयुक्त ए कुलभूषण टोप्पो ने रायपुर जिले और रायपुर संभाग के सभी नागरिकों से कोरोना के नियंत्रण और रोकथाम के लिए सहयोग की अपील की है

कमिश्नर ने कहा है कि बड़ी संख्या में नागरिक कोरोना से प्रभावित हुए हैं और हमने अपने कई परिजनों, साथियों, परिचितों को खोया है। यह स्थिति अभूतपूर्व है और ऐसे में हर व्यक्ति के लिए जरूरी हो गया है कि वे इस बीमारी के प्रति अपनी समझ बढ़ाएं। कोरोना की रोकथाम के अनुरूप अपना व्यवहार अपनाएं। जैसे मास्क लगाना, कम से कम छह फीट की दूरी बना कर रखें और सैनिटाइजर का उपयोग करें।

उन्होंने रायपुर जिले की शहरी एवं ग्रामीण सभी नागरिकों से आग्रह है कि वे कोरोना गाइडलाइन और लाॅकडाउन के निर्देशों का पूरी तरह पालन करें। सभी नागरिक घर में रहें और अपने साथ अपने परिवार को सुरक्षित रखें। ऐसे प्रयासों से कोरोना के चेन को तोड़ने में मदद मिलेगी।

उन्होंने कहा है कि लक्षण आने पर कोरोना का टेस्ट अवश्य कराएं तथा 45 वर्ष की आयु से नागरिक कोरोना का टीका भी लगवाएं। लाकडाउन के दौरान भी शासकीय चिकित्सालयों में कोरोना टेस्टिंग और वैक्‍सीनेशन का कार्य निःशुल्क होता रहेगा। पात्र नागरिक अपना आई कार्ड और आधार कार्ड दिखाकर चिकित्सालय आ सकते हैं। रायपुर जिले में जहां होम आइसोलेशन की व्यवस्था की गई है। वहीं, 12 नए कोरोना केयर सेंटर बनाकर करीब दो हजार सात सौ बेड की व्यवस्था भी बढ़ायी जा रही है। जिले के सभी विकासखंडों में भी 100-100 बेड की व्यवस्था की जा रही है।

कमिश्नर ने कहा है कि कोरोना से बचाव के लिए यह जरूरी है कि हम शासन प्रशासन, और चिकित्सा स्टाफ को सही-सही जानकारी दें। सही जानकारी नहीं मिलने पर न केवल ऐसे नागरिक अपने जीवन के प्रति संकट पैदा करेंगे बल्कि अपने घर-परिवार, मित्रों और परिचितों के लिए खतरा बनेंगे। इस लिए कांटेक्ट ट्रेसिंग टीम और घर घर सर्वेक्षण करने आए सर्विलांस टीम को पूरी और सही जानकारी दें।