ब्रेकिंग
आर्थिक आधार से गरीब लोगों के आरक्षण में कटौती के विरोध में आज भाटापारा अनुविभागीय अधिकारी के कार्यालय जाकर राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा गया विधानसभा विशेष सत्र। विधानसभा सत्तापक्ष पर जमकर बरसे विधायक शिवरतन शर्मा, आरक्षण रुकवाने जो लोग कोर्ट गए उन्हें मुख्यमंत्री जी पुरस्कृत करते हैं,सत्र ... रायपुर विधानसभा विशेष सत्र। विधानसभा में आरक्षण बिल के दौरान ब्राह्मण नेताओं पर जमकर बरसे बलौदाबाजार विधायक प्रमोद शर्मा, उनके मुंह पर करारा तमाचा मार... अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद भाटापारा नगर इकाई की हुई घोषणा मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने मंडी समिति के नए सदस्य को दिलाई शपथ, उद्बोधन में कहा भारसाधक पदाधिकारीयो की नियुक्ति के बाद से मंडी लगातार चहुमुखी विकास क... मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने धान ख़रीदी केंद्रो का निरीछन कर, धान बेचने आये किसानो से मुलाक़ात कर, धान बेचने में आने वाली समस्या की जानकारी ली, किसानों... ग्राम मर्राकोना में नवीन धान उपार्जन केंद्र के शुभारंभ अवसर पर मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने कहा भूपेश सरकार किसानों की सरकार है ग्राम मर्राक़ोंना में नवीन धान उपार्जन केंद्र को मिली हरी झंडी मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने दी जानकारी ट्रक चोरी करने वाले 06 आरोपियो को किया गया गिरफ्तार, मंडी के पास लिंक रोड के किनारे खड़ी ट्रक को किया था चोरी, उड़ीसा से हुई बरामद रायपुर में शिवमहापुराण कथा:पंडित प्रदीप मिश्रा का प्रवचन सुनने लाखों लोग पहुंचे , अनुमान से अधिक लोगों के पहुंचने के कारण पंडित जी को कहना पड़ा घर में...

असम में मतगणना को निष्पक्ष और पारदर्शी बनाने के लिए ‘महाजोट’ ने चुनाव आयोग से की वीडियोग्राफी की मांग

गुवाहाटी। असम में विपक्षी दल कांग्रेस के नेतृत्व वाले ‘महाजोट’ के एक घटक आंचलिक गण मोर्चा (एजीएम) ने रविवार को चुनाव आयोग से विधानसभा चुनाव की दो मई को होने वाली मतगणना की वीडियोग्राफी कराने की मांग की।

एजीएम अध्यक्ष भुइयां ने कहा- असम के नौकरशाह मतगणना में गड़बड़ी कर सकते हैं

चुनाव आयोग को लिखे पत्र में एजीएम के अध्यक्ष और राज्यसभा सदस्य अजित कुमार भुइयां ने कहा कि विधानसभा चुनाव की पूरी प्रक्रिया में आयोग को राज्य की नौकरशाही पर निर्भर होना होता है और इस बात की आशंका है कि कर्मचारियों के कुछ वर्ग सत्तारूढ़ भाजपा का समर्थन और मतगणना में शरारत कर सकते हैं।

मतगणना को निष्पक्ष और पारदर्शी बनाने के लिए चुनाव आयोग उठाए सख्त कदम

असम में मतगणना प्रक्रिया को निष्पक्ष और पारदर्शी बनाने के लिए हम माननीय आयोग से कंडक्ट आफ इलेक्शन रूल, 1961 और आयोग द्वारा समय-समय पर जारी अधिसूचनाओं के मुताबिक ऐसे सभी संभावित कदम उठाने का अनुरोध करते हैं।

मतगणना प्रक्रिया की वीडियोग्राफी कराना चाहिए

पारदर्शिता की दिशा में ऐसा ही एक कदम पूरी मतगणना प्रक्रिया की वीडियोग्राफी कराना होगा। बता दें कि राज्य में तीन चरणों में विधानसभा चुनाव 27 मार्च, एक अप्रैल और छह अप्रैल को हुए थे।