शारदा विहार बावड़ी में भर दिया कचरा, खत्म हो गई वाटर हार्वेस्टिंग

ग्वालियर। स्टेटकाल के समय शारदा विहार में बनाई गई बावड़ी अंदर से खंडर की स्थिति में पहुंच रही है। इस बावड़ी को तीन साल पहले नगर निगम ने साफ कराया था। वर्तमान मंे बावड़ी के अंदर कचरा पड़ा है, साथ ही उसमें अंदर जाने वाली सीढ़ियों पर पेड़-पौधे उग आएं हैं।
यह बावड़ी पांच मंजिला गहरी बनाई गई थी। इस बावड़ी के अंदर जाने के लिए सीढ़िया बनी हुई हैं। प्रत्येक मंजिल पर कमरे भी बनाए गए हैं, जहां खड़े होकर व्यक्ति पानी भर सकता है। लेकिन क्षेत्र में अत्याधिक बोरिंगें हो जाने के कारण इस बावड़ी का पानी सूख गया। इसके बाद नगर निगम ने तीन साल पहले इस बावड़ी की सुध ली और इसकी सफाई कराई। साथ ही बावड़ी को रिचार्ज करने के लिए इसमें वाटर हार्वेस्टिंग की दो किटें लगाई गईं। पहली ही बारिश में बावड़ी की दीवार गिर गई। इसके बाद स्मार्ट सिटी ने बावड़ी के रेनोवेशन का कार्य किया और इसकी दीवार आदि को फिर से बनवाया। वर्तमान समय में बावड़ी के अंदर इंटें आदि निकलने लगी हैं, इसके कारण यह बावड़ी कभी भी धंसक सकती है।
पॉश कालोनी के मकानों से हो सकती है वाटर हार्वेस्टिंग
शारदा विहार बावड़ी कालोनी के बीच में स्थित है। यहां पर अगर सभी मकानों का पानी पाइप के जरिए लाकर बावड़ी में पहुंचा दिया जाए तो आसपास के क्षेत्र का जलस्तर काफी बढ़ सकता है।
बारिश के पानी को बचाना हम सभी का दायित्व है। नगर निगम भी इसके लिए अभियान चलाएगा। बावड़ी को ठीक कर उसमें पानी लाया जा सकता है। मैं स्वयं शारदा विहार बावड़ी का निरीक्षण कर इसकी व्यवस्था कराऊंगा।
शिवम वर्मा, नगर निगम आयुक्त