ब्रेकिंग
आर्थिक आधार से गरीब लोगों के आरक्षण में कटौती के विरोध में आज भाटापारा अनुविभागीय अधिकारी के कार्यालय जाकर राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा गया विधानसभा विशेष सत्र। विधानसभा सत्तापक्ष पर जमकर बरसे विधायक शिवरतन शर्मा, आरक्षण रुकवाने जो लोग कोर्ट गए उन्हें मुख्यमंत्री जी पुरस्कृत करते हैं,सत्र ... रायपुर विधानसभा विशेष सत्र। विधानसभा में आरक्षण बिल के दौरान ब्राह्मण नेताओं पर जमकर बरसे बलौदाबाजार विधायक प्रमोद शर्मा, उनके मुंह पर करारा तमाचा मार... अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद भाटापारा नगर इकाई की हुई घोषणा मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने मंडी समिति के नए सदस्य को दिलाई शपथ, उद्बोधन में कहा भारसाधक पदाधिकारीयो की नियुक्ति के बाद से मंडी लगातार चहुमुखी विकास क... मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने धान ख़रीदी केंद्रो का निरीछन कर, धान बेचने आये किसानो से मुलाक़ात कर, धान बेचने में आने वाली समस्या की जानकारी ली, किसानों... ग्राम मर्राकोना में नवीन धान उपार्जन केंद्र के शुभारंभ अवसर पर मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने कहा भूपेश सरकार किसानों की सरकार है ग्राम मर्राक़ोंना में नवीन धान उपार्जन केंद्र को मिली हरी झंडी मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने दी जानकारी ट्रक चोरी करने वाले 06 आरोपियो को किया गया गिरफ्तार, मंडी के पास लिंक रोड के किनारे खड़ी ट्रक को किया था चोरी, उड़ीसा से हुई बरामद रायपुर में शिवमहापुराण कथा:पंडित प्रदीप मिश्रा का प्रवचन सुनने लाखों लोग पहुंचे , अनुमान से अधिक लोगों के पहुंचने के कारण पंडित जी को कहना पड़ा घर में...

इंदौर में मिले 923 नए कोरोना पाजिटिव, संक्रमण से 6 की मौत

इंदौर। इंदौर में रविवार को संक्रमण के 923 नए मामले सामने आए। इस दिन 6476 सैंपल की जांच की गई। अब तक शहर में नौ लाख 93 हजार 307 सैंपल जांचे जा चुके हैं। इनमें से 79,434 संक्रमित पाए गए हैं। देर रात जारी कोरोना बुलेटिन के अनुसार रविवार को 613 मरीज ठीक होकर घर गए। अब तक 70 हजार 512 मरीज ठीक होकर अस्पतालों से डिस्चार्ज हो चुके हैं

रविवार को इंदौर शहर में कोरोना संक्रमण से छह लोगों की जान गई और अब तक मरने वालों की संख्या 1005 हो चुकी है। संक्रमण से मौतों पर फरवरी में अंकुश लगा था, लेकिन मार्च के दूसरे पखवाड़े से अचानक इसमें बढ़ोतरी होने लगी। एक महीने के दौरान 60 से ज्यादा मौत शहर में हो चुकी है। अप्रैल-2021 के शुरुआती 10 दिन में ही 37 लोग जान गवां चुके हैं। इस दौरान मृत्युदर 0.45 प्रतिशत ही है। यानी आध्ाा प्रतिशत से भी कम। कोरोना की वजह से सबसे ज्यादा 174 मौत सितंबर-2020 में हुई थी। मृत्यु दर के हिसाब से देखें तो जून 2020 में यह सबसे ज्यादा 8.11 प्रतिशत थी।

यानी उस महीने हर 12वें मरीज की जान जा रही थी। मार्च 2020 के अंतिम सप्ताह में कोरोना संक्रमित मिलने के साथ ही इंदौर में इस बीमारी से होने वाली मौतों का सिलसिला शुरू हो चुका था। अब तक सितंबर, अक्टूबर और दिसंबर तीन ऐसे महीने रहे हैं जिनमें बीमारी की वजह से शहर में सौ से ज्यादा मौतें हुईं। सबसे ज्यादा राहत भरा महीना फरवरी-2021 का रहा। इस महीने सिर्फ नौ लोगों ने जान गवाई थी।