ब्रेकिंग
एकदंत संकष्टी चतुर्थी कल अप्रैल के जीएसटी कर भुगतान की तारीख बढ़ी वैश्विक स्तर पर अकेले वायु प्रदूषण से 66.7 लाख लोगों की मौत ऑनलाइन गेमिंग, कैसिनो पर 28 फीसदी जीएसटी लगाने की तैयारी, ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स ने दी प्रस्ताव को मंजूरी एक दिन की बढ़त के बाद फिसला बाजार, सेंसेक्स-निफ्टी लाल निशान में क्लोज, पॉवर ग्रिड सबसे ज्यादा लुढ़का पीएम आवास योजना को लेकर सरकार ने किया बड़ा ऐलान! सभी पर पड़ेगा असर कश्मीर घाटी में अभी और होगी बारिश, जम्मू में चल सकती है लू, अलर्ट जारी सुप्रीम कोर्ट ने एजी पेरारिवलन को रिहा किया फूड कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया में आवेदन की प्रक्रिया जल्द ही शुरू की जा सकती है बॉडी शेम का शिकार हो चुकीं बॉलीवुड अभिनेत्रियों की हैं लंबी लिस्ट, हाइपेड एक्ट्रेस में होती हैं इनकी गिनती!

एंटीलिया विस्फोटक केस: पूर्व अधिकारी वाजे के खिलाफ जल्द बड़ा एक्शन लेगी मुंबई पुलिस

मनसुख हिरेन केस में गिरफ्तार  पूर्व अधिकारी सचिन वाजे को मुंबई पुलिस बरखास्त करने की तैयारी कर रही है। सूत्रों के अनुसार मुंबई पुलिस  वाजे को लेकर जल्द फैसला सुना सकती है।  रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के चेयरपर्सन मुकेश अंबानी के घर के पास विस्फोटक से भरी गाड़ी रखने की साजिश और गवाह मनसुख हिरेन की हत्या के आरोप में  वाजे की गिरफ्तारी हुई थी।  इसी मामले में वह  एनआईए की हिरासत में है।

NIA की हिरासत में है वाजे
NIA ने सचिन वाजे के खिलाफ अनलॉफुल एक्टिविटीज (प्रीवेन्शन) एक्ट यानी UAPA की कई धाराएं लगाई हैं। वहीं इससे एक दिन पहले मुंबई पुलिस ने वाजे के सहयोगी सह पुलिस निरीक्षक रियाज काजी को अगले आदेश तक सेवा से निलंबित करने का आदेश जारी किया। अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (शस्त्र इकाई) वीरेंद्र मिश्रा ने काजी को निलंबित करने का आदेश जारी किया है जिसमें कहा गया है कि वह कोई भी निजी काम नहीं कर सकते हैं और इस आदेश का उल्लंघन होने पर उनके खिलाफ कारर्वाई की जाएगी। काजी को रविवार को गिरफ्तार किया गया था और उन्हें 16 अप्रैल तक एनआईए की हिरासत में भेजा दिया गया है।

वाजे का सहयोगी भी  निलंबित
पिछले साल 9 जून को सचिन वाजे ने सीआईयू के इंचार्ज का पदभार संभाला तब से लेकर अब तक काजी सचिन वाजे के साथ ही काम कर रहा था और उसके हर काम में हाथ बंटाता था. वाजे के सबसे करीबी सहयोगी के रूप में इसे पहचाना जाता है। सीआईयू यूनिट में काम करते हुए रियाजुद्दीन काजी सचिन वाजे के साथ कई अहम जांच में शामिल रहा। इनमें टीआरपी घोटाले की जांच, डीसी अवंति कार घोटाला, फेक सोशल मीडिया फॉलोअर्स प्रकरण और कंगना-ऋतिक विवाद शामिल है।

 वाजे पर गंभीर आरोप
एनआईए ने वाजे पर गंभीर धाराओं में केस दर्ज कराया है, जिसमें साजिश, धमकी जैसे गंभीर आरोप हैं।  वाजे के खिलाफ आपराधिक साजिश के लिए धारा 120 बी, विस्फोटक केस में लापरवाही के लिए धारा 286, जालसाजी के लिए धारा 465, जाली सील के इस्तेमाल के लिए धारा 473 और धमकी देने के लिए धारा 506 (2) के तहत केस दर्ज किया है।