ब्रेकिंग
उदयपुर हत्याकांड के विरोध में बंद रहा बाजार, चप्पे-चप्पे पर तैनात रहे जवान यूपीएसएसएससी पीईटी नोटिफिकेशन जारी काशी विश्वनाथ धाम में अब बज सकेगी शहनाई, होंगी शादियां प्रदेश में मंत्री से लेकर संतरी तक भ्रष्टाचार में संलिप्त, भ्रष्टाचारियों की गिरफ्तारी के मुद्दे पर आप लड़ेगी निगम चुनाव अज्ञात युवकों ने कॉलेज कैंटीन में बैठे 3 छात्रों पर किया तेजधार हथियार से हमला; 1 की हालत गंभीर सिवनी कोर्ट परिसर में न्यायाधीशों समेत 27 ने किया रक्तदान, वितरित किए प्रमाण पत्र पड़ोस में रहने आयी छात्रा से जान पहचान बना डिजिटल रेप करने वाले आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार लोगों ने की आरोपियों को फांसी की सजा देने की मांग, टायर जलाकर की नारेबाजी 12 जुलाई को देवघर जाएंगे पीएम मोदी रिलायंस जिओ डीटीएच प्लान्स ऑफर और आवेदन की जानकारी | Reliance Jio DTH Setup Box Plan Offer Online Booking Information in hindi

जबलपुर में कोरोना का कोहराम, अस्पताल से मुक्तिधाम तक हाहाकार

जबलपुर। अस्पताल से लेकर मुक्तिधाम तक कोरोना का कोहराम मचा हुआ है। हालात यह है कि दोनों ही जगह वेटिंग चल रही है। अस्पतालों में कोरोना संक्रमित मरीजों के उपचार और भर्ती की वेटिंग चल रही है वहीं मुक्तिधाम में संक्रमण से जान गवाने वाले मरीजों के शवों के अंतिम संस्कार के लिए स्वजन को घण्टों प्रतीक्षा सूची में रहना पड़ रहा है। कुल मिलाकर कोरोना ने जिले में ऐसा हाहाकार मचा दिया है की स्वास्थ्य सेवाएं ध्वस्त होती नजर आ रही हैं। कोरोना की भयावहता का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि मेडिकल कॉलेज सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में शव के ऊपर शव रखकर वाहन के जरिए मरचुरी तक पहुंचाए जा रहे हैं

जिले में कोरोना महामारी का खतरा विस्फोटक रूप लेता जा रहा है। बीते 24 घंटे के भीतर कोरोना संक्रमित 552 मरीज सामने आए जो अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है। नए मरीजों को मिलाकर जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 22 हजार 967 पहुंच गई है। वहीं इस अवधि में चार और मरीजों की मौत हुई जिसके बाद मृतक संख्या बढ़कर 292 हो गई है। सोमवार को कोरोना संक्रमण से मुक्त होने पर 252 लोगों को होम व संस्थागत अाइसोलेशन से छुट्टी दी गई। जिसके बाद संक्रमण मुक्त होने वालों की संख्या 19 हजार 723 पहुंच गई। हालांकि जिले में कोरोना के सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़कर 2 हजार 952 हो गई है। नए मरीजों की तादात बढ़ने के कारण कोरोना से रिकवरी दर लुढककर 85.87 फीसद हो गई है। सोमवार को दो हजार 851 सैंपल की रिपोर्ट प्राप्त हुई तथा दो हजार 633 संदिग्धों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए।

रेमडेसिविर इंजेक्शन के लिए मारामारी: इधर, सोमवार को भी जिले में रेमडेसिविर इंजेक्शन के लिए मारामारी होती रही। निजी व शासकीय अस्पतालों में भर्ती मरीजों के स्वजन इंजेक्शन के लिए दर-दर भटकते रहे। औषधि निरीक्षक रामलखन पटेल ने बताया कि सोमवार को जिले में 700 रेमडेसिविर इंजेक्शन की आपूर्ति की गई। अस्पतालों की मांग के अनुरूप इंजेक्शन का वितरण प्रशासनिक अधिकारियों की मौजूदगी में किया। इधर, तमाम अस्पतालों में कोरोना संक्रमित नए मरीजों को भर्ती करने के लिए रेमडेसिविर इंजेक्शन साथ लाने की शर्त रख दी गई है। इधर, तमाम अस्पताल संचालकों का कहना है कि रेमडेसिविर इंजेक्शन के अभाव में मरीजों की जान सांसत में है। सरकार इंजेक्शन उपलब्ध कराने में नाकाम हो रही है वहीं व्यापारी जमाखोरी व कालाबाजारी पर उतारू हैं।

मुक्तिधामों में 34 शवों का अंतिम संस्कार, कई शव रखे रह गए: इधर, सोमवार को शहर के तमाम मुक्तिधामों में कोरोना से संबंधित 34 शवों का अंतिम संस्कार किया गया। दो शव बिलहरी कब्रिस्तान तथा 32 शवों का अंतिम संस्कार गढ़ा चौहानी में किया गया। सूत्रों का कहना है कि गढ़ा चौहानी में जलाए गए 30 शव कोरोना संक्रमित मरीजों के थे। इनमें बाहरी जिलों से आए कोरोना संक्रमितों के भी शव शामिल हैं। बिलहरी में भी कोरोना संक्रमित शवों का अंतिम संस्कार किया गया।

रेलवे अस्पताल में पड़ा रह गया शव: बताया जाता है कि रेलवे अस्पताल में सोमवार को जिम्मेदार कर्मचारियों के न पहुंच पाने के कारण कोरोना संक्रमित मरीज का शव पड़ा रह गया। इसी प्रकार कुछ निजी व अन्य शासकीय अस्पतालों में भी मरीजों के शव अंतिम संस्कार की व्यवस्था न हो पाने के कारण पड़े रह गए।त्रिमूर्ति नगर क्षेत्र में सामान्य मौत के बावजूद एक वृद्ध महिला का शव उठाने के लिए स्थानीय नागरिक भी तैयार नहीं हुए। मोक्ष संस्था के आशीष ठाकुर ने विधि विधान से शव का अंतिम संस्कार कराया।

शव के ऊपर शव रखकर ले जा रहे मरचुरी: नेताजी सुभाष चंद्र बोस मेडिकल कॉलेज परिसर स्थित सुपर स्पेशयलिटी अस्पताल में शव के ऊपर शव रखकर मरचुरी तक पहुंचाया जा रहा है। मृतक की संख्या बढ़ने के कारण एेसे हालात निर्मित हो रहे हैं। वहीं कुछ शव घंटों वार्ड में अथवा अस्पताल परिसर में पड़े रह जाते हैं। शव के ऊपर शव रखकर मरचुरी तक पहुंचाने का द्श्य देखकर लोगों का दिल दहल उठता है।

फैक्ट फाइल

कुल संक्रमित-22967

स्वस्थ हुए-19723

सक्रिय मरीज-2952

मृत्यु-292