Jain
ब्रेकिंग
महू में दो गुटों में विवाद के बाद बम फोड़ा; 2 की मौत, 15 से ज्यादा घायल रोटी भी बदल सकती है किस्मत डीजीपी का सिल्वर मेडल भी आज लखनऊ में देंगे एडीजी जोन,खुशी की लहर देर शाम आई सभी के पास प्रशासन फोन कॉल, 30 स्वतंत्रता सेनानियों के आश्रितों किया गया था आमंत्रित आजादी के अमृत महोत्सव के लिए रंग बिरंगी रोशनियों से सजा ग्वालियर दुगरी फेस-1 में हुआ हमला,अदालत में गवाही न देने के लिए हमलावर बना रहे थे दबाव भाजयुमो के मंत्री ने कार के सन रूफ से निकलकर झंडे की फोटो की थी पोस्ट 100 फूट ऊंचा लहरा रहा तिरंगा,लाइटों से जगमगाया शहर, दुल्हन की तरह सजी सड़कें रैली निकालकर लगाए भारत माता की जयकारे, बच्चों और ग्रामीणों ने किया समरसता भोज राजस्व एवं आपदा प्रबंधन मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने किया ध्वजारोहण

चोरी की बाइक बेचने ग्राहक तलाश रहे दो नाबालिग समेत सात पकड़ाए

बिलासपुर। सरकंडा पुलिस ने चोरी की बाइक बेचने ग्राहक तलाश रहे दो नाबालिग समेत सात लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपित के कब्जे से तीन मोटरसाइकिल, चार मोबाइल व घरेलू सामान जब्त किया है।

रविवार की शाम सूचना मिली कि लिंगियाडीह में कुछ युवक चोरी की बाइक बेचने ग्राहक तलाश रहे हैं। इस पर पुलिस ने मौके पर दबिश देकर सुधीर बेलदार(19 वर्ष) निवासी लिंगियाडीह, विकास यादव(19 वर्ष) निवासी अशोक नगर सरकंडा, उमाशंकर निषाद(19 वर्ष) निवासी चांटीडीह, अरुण साहू(18 वर्ष) निवासी चांटीडीह और देवकुमार नेताम(19 वर्ष) निवासी बंधवापारा सरकंडा को हिरासत में ले लिया।

पुलिस की पूछताछ में युवक पुलिस को गुमराह करते रहे। कड़ाई से पूछताछ में युवकों ने शहर के अलग-अलग क्षेत्र में चोरी करना बताया। सुधीर ने अपने साथी सूरज के साथ मिलकर मोटरसाइकिल चोरी की थी। वहीं विकास के साथ मिलकर अशोक नगर में पान दुकान में चोरी करना बताया। उमाशंकर और अस्र्ण के कब्जे से पुलिस ने गैस सिलिंडर, होम थिएटर और घरेलू सामान जब्त किया है।

युवकों ने रायपुर रोड में खड़े ट्रक से मोबाइल चोरी करना बताया। देवकुमार ने रतनपुर क्षेत्र से मोटरसाइकिल चोरी करना स्वीकार किया है। पकड़े गए नाबालिगों ने सिविल लाइन क्षेत्र से मोटरसाइकिल चोरी करना बताया। पुलिस ने आरोपित युवकों और नाबालिग के कब्जे से तीन मोटरसाइकिल, चार मोबाइल और घरेलू सामान जब्त कर न्यायालय में पेश किया है।

अलग-अलग क्षेत्र में घटना को दिया अंजाम

युवकों ने बाइक, मोबाइल और घरेलू सामान के साथ ही पान की दुकान में भी चोरी की थी। पकड़े जाने के बाद आरोपित युवकों ने बताया कि पुलिस को चकमा देने के लिए वे अलग-अलग क्षेत्र में घटना को अंजाम देते थे। वे अपने क्षेत्र में सक्रिय नहीं रहते थे। इसके कारण वे पुलिस से बचे हुए थे।