नयी मण्डी में तैयार हो रहा 600 बेड कोविड केयर अस्पताल,अपर कलेक्टर ने अफसरों के साथ लिया तैयारियों का जायज़ा, छह कोविड अस्पतालों की कुल 806 क्षमता के विरुद्ध मात्र 482 मरीज़ भर्ती, अभी भी 324 बेड खाली

बलौदाबाजार । बलोदाबाज़ार नयी मण्डी परिसर में 600 बिस्तर युक्त कोविड केयर अस्पताल बनाई जा रही है। मण्डी के खाद्यान्न गोदाम को अस्पताल के रूप में तब्दील किया जा रहा है। अस्पताल बनाने का काम यहां दो चरणों मे होगा। प्रथम सप्ताह में 300 बेड तैयार हो जायेगा। इसके एक सप्ताह में दूसरा 300 बेड युक्त अस्पताल तैयार होगा। कलेक्टर सुनील कुमार जैन ने जिले में कोरोना के बढ़ते प्रकरणों को देखते हुए युद्धस्तर पर काम करके अस्पताल तैयार करने को कहा है। अपर कलेक्टर राजेन्द्र गुप्ता ने अधिकारियों की टीम के साथ आज स्थल निरीक्षण किया। उन्होंने अधिकारियों को जरूरी दिशा-निर्देश दिये।
उल्लेखनीय है की जिले में फिलहाल 6 कोविड अस्पताल हैं। इनमें कुल बेड की संख्या 806 है। जिसके विरुद्ध 482 मरीज़ भर्ती होकर इलाज करा रहे हैं। 324 बेड आज की तारीख में खाली हैं। पिछले तीन-चार दिनों में मरीजों की संख्या एकाएक बढ़ी है। 12 अप्रैल को एक ही दिन में एक हज़ार से ज्यादा मरीजों की पहचान हुई है। भविष्य में और मरीज़ों की संभावना को देखते हुये अस्पताल की तैयारी की जा रही है। सीएमएचओ डॉ सोनवानी ने बताया कि जिला मुख्यालय के डेडिकेटेड कोविड अस्पताल 160 बेड की क्षमता के विरुद्ध 203 मरीज़ों की भरती कर इलाज किया जा रहा है। इसी प्रकार सकरी लाइवलीहुड कॉलेज में 170 क्षमता के विरुद्ध 105 मरीज़, आईटीआई सिमगा में 296 क्षमता के विरुद्ध 86 मरीज़, बालिका आश्रम बिलाईगढ़ में 70 क्षमता के विरुद्ध 52 मरीज़, पोस्ट मेट्रिक आदिवासी हॉस्टल सुरखी भाटापारा में 60 के विरुद्ध 22 मरीज़ और प्री मेट्रिक आदिवासी हॉस्टल कसडोल में 50 के विरुद्ध 14 मरीज़ों की भरती लेकर इलाज किया जा रहा है। अपर कलेक्टर गुप्ता ने बताया कि नयी मण्डी में बनाये जा रहे 6 सौ सीट अस्पताल में 150 सीट में वेंटिलेटर सुविधा भी मिलेगी। ये अस्पताल तैयार हो जाने पर जिले के कोरोना मरीज़ों को इलाज के लिए काफी सहूलियत होगी।उन्होंने नये प्रस्तावित अस्पताल में वे तमाम सुविधाएं विकसित करने को कहा जो कि कोविड अस्पताल के लिए जरूरी हो। डॉक्टर, नर्स, पैरामेडिकल स्टाफ सहित मरीज़ों की सुविधाओं का भी ख्याल रखा जाएगा। सीएमएचओ डॉ खेमराज सोनवानी, लोक निर्माण विभाग के ईई टीसी वर्मा, पीएचई विभाग के ईई श्री मरकाम, विद्युत यांत्रिकी विभाग के एसडीओ श्री सूर्यवंशी, तहसीलदार गौतम सिंह, मण्डी सचिव योगेश अग्रवाल आदि अधिकारी उपस्थित थे।