ब्रेकिंग
शेयर बाजार में फिर गिरावट का दौर जारी मुख्यमंत्री चौहान संबल योजना के नये स्वरूप संबल 2.0 के पोर्टल का करेंगे शुभारंभ राहुल गांधी ने ऐसे कोई संकेत नहीं दिए कि वो पार्टी के अध्यक्ष पद के लिए चुनाव लड़ेंगे कांग्रेस चिंतन शिविर: राजस्थान से रायपुर लौटे CM बघेल, एयरपोर्ट पर कांग्रेसियों ने मिठाई खिलाकर किया स्वागत बैंक में पैसा जमा करने व निकालने के संबंध में लाया गया नया नियम, 26 मई से होगा प्रभावी मौनी रॉय की इन तस्वीरों पर दिल हारे फैंस, समुद्र के बीच से शेयर की ग्लैमरस PICS आज फिर बढ़ी सीएनजी की कीमतें CG में जिगरी दोस्त बने दुश्मन: साथियों ने बीच सड़क अपने दोस्त का मुंह किया काला, पीड़ित ने रो-रोकर पुलिस से बताई आपबीती रूह कंपा देने वाली घटना: यात्री बस ने बाइक सवारों को रौंदा, मां और बच्ची की मौके पर ही दर्दनाक मौत बिटक्वाइन 30 हजार डॉलर के नीचे अटका, Dogecoin, Shiba Inu, Solana भी गिरे

बंगाल में आधा चुनाव खत्म होने के बाद आज राहुल गांधी करेंगे राज्य में पहली सभा

कोलकाता। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी आज बुधवार को पहली बार बंगाल के चुनावी रण में उतरेंगे। बंगाल विधानसभा चुनाव के चार चरण की वोटिंग हो चुकी है और पांचवें चरण के लिए 17 अप्रैल को मतदान है। एक तरह से बंगाल में लगभग आधे चुनाव खत्म हो गए हैं और राज्य में चुनावी अभियान समाप्त होने में महज एक पखवाड़ा बचा है। ऐसे में भाजपा ने बंगाल की चुनावी जंग को फतह करने के लिए अपनी पूरी ताकत झोंक दी है जबकि कांग्रेस के बड़े नेता मैदान से गायब हैं।

वहीं, असम, केरल, तमिलनाडु और पुडुचेरी के चुनाव समाप्त होने के एक सप्ताह बाद भी कांग्रेस के स्टार प्रचारक राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने बंगाल में कदम तक नहीं रखा है। इसको लेकर लगातार सवाल भी उठ रहे हैं। इन सबके बीच कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी आज बुधवार को पहली बार बंगाल के चुनावी रण में उतरेंगे। राज्य में अपने चुनाव प्रचार अभियान की शुरुआत करते हुए राहुल गांधी आज उत्तर बंगाल में दो जनसभाओं को संबोधित करेंगे। सबसे पहले वह सिलीगुड़ी के माटीगारा-नक्सलबाड़ी क्षेत्र में जनसभा करेंगे। इसके बाद उत्तर दिनाजपुर जिले के गोलपोखर में उनकी रैली होगी।

उल्लेखनीय है कि बंगाल में कांग्रेस-लेफ्ट-आईएसएफ मिलकर चुनाव लड़ रही हैं, लेकिन कांग्रेस के स्टार प्रचारक राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने अभी तक एक भी रैली बंगाल में नहीं की है। इतना ही नहीं, कांग्रेस के बड़े नेता भी बंगाल से खुद को दूर रखे हुए हैं। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अधीर चौधरी वाममोर्चा और इंडियन सेक्युलर फ्रंट के नेताओं के साथ मिलकर चुनाव प्रचार कर रहे हैं।

वहीं दूसरी ओर भाजपा ने बंगाल में अपनी पूरी ताकत झोंक रखी है। पीएम नरेंद्र मोदी से लेकर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह बार-बार बंगाल दौरे पर आ रहे हैं और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर लगातार हमले बोल रहे हैं। असल में ऐसे कई राजनीतिक मजबूरी है जिन पर उठने वाले सवालों से बचने के लिए राहुल बंगाल दौरे से बचते रहे। एक ओर जहां वाम दलों के साथ बंगाल में मिलकर कांग्रेस चुनाव लड़ रही है और वहीं केरल में मुख्य विरोधी है। ऐसे में वह दोहरे माप दंड वाले मजबूरी से बचने के लिए अभी तक बंगाल में चुनाव प्रचार से बचते रहे हैं।