जिला सहकारी बैंक में चौकीदार ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

बिलासपुर। जिला सहकारी बैंक की लोहर्सी शाखा में पदस्थ चौकीदार ने सोमवार रात बैंक में ही फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। सुबह बैंक की साफ सफाई करने पहुंची महिला ने इसकी जानकारी बैंक मैनेजर को दी। इसकी सूचना पर पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। प्राथमिक पूछताछ में पता चला है कि चौकीदार पैर दर्द से परेशान था। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

पचपेड़ी थाना क्षेत्र के लोहर्सी निवासी शांतनु साहू पिता कार्तिक राम(40 वर्ष) जिला सहकारी बैंक में चौकीदार थे। सोमवार की शाम वे बैंक ड्यूटी के लिए गए थे। सुबह छह बजे बैंक में काम करने वाली महिला कर्मी रमशीला साहू साफ-सफाई के लिए आई। बैंक के अदंर शांतनु का शव पंखे के हुक से फांसी के फंदे पर झूल रहा था। महिला ने इसकी जानकारी बैंक के मैनेजर दीपक तिवारी को दी।

इसके बाद बैंक की ओर से घटना की जानकारी पचपेड़ी पुलिस को दी गई। इस पर पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। बैंक में काम करने वालों ने बताया कि मृतक शांतनु पैर में होने वाले दर्द से परेशान रहता था। उसने इसका कई जगह उपचार कराया था। इसमें उसका दर्द कम नहीं हुआ था। वर्तमान में वह किसी गुनिया से उपचार करा रहा था। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव स्वजन को सौंप दिया है। पुलिस मामले की जांच कर रह है

गुनिया के चक्कर में गंवा दिए स्र्पये फिर भी नहीं मिला आराम

पूछताछ के दौरान मृतक के साथ काम करने वालों ने बताया कि उसने लंबे समय तक शहर में डाक्टरों से इलाज कराया था। इसमें उसका दर्द कम हो जाता था। बाद में फिर से दर्द होने लगता था। इस पर वह इन दिनों किसी गुनिया से इलाज करा रहा था। इसमें उसने हजारों स्र्पये भी खर्च किए थे। इसके बाद भी उसे आराम नहीं मिला था।