ब्रेकिंग
आर्थिक आधार से गरीब लोगों के आरक्षण में कटौती के विरोध में आज भाटापारा अनुविभागीय अधिकारी के कार्यालय जाकर राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा गया विधानसभा विशेष सत्र। विधानसभा सत्तापक्ष पर जमकर बरसे विधायक शिवरतन शर्मा, आरक्षण रुकवाने जो लोग कोर्ट गए उन्हें मुख्यमंत्री जी पुरस्कृत करते हैं,सत्र ... रायपुर विधानसभा विशेष सत्र। विधानसभा में आरक्षण बिल के दौरान ब्राह्मण नेताओं पर जमकर बरसे बलौदाबाजार विधायक प्रमोद शर्मा, उनके मुंह पर करारा तमाचा मार... अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद भाटापारा नगर इकाई की हुई घोषणा मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने मंडी समिति के नए सदस्य को दिलाई शपथ, उद्बोधन में कहा भारसाधक पदाधिकारीयो की नियुक्ति के बाद से मंडी लगातार चहुमुखी विकास क... मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने धान ख़रीदी केंद्रो का निरीछन कर, धान बेचने आये किसानो से मुलाक़ात कर, धान बेचने में आने वाली समस्या की जानकारी ली, किसानों... ग्राम मर्राकोना में नवीन धान उपार्जन केंद्र के शुभारंभ अवसर पर मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने कहा भूपेश सरकार किसानों की सरकार है ग्राम मर्राक़ोंना में नवीन धान उपार्जन केंद्र को मिली हरी झंडी मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने दी जानकारी ट्रक चोरी करने वाले 06 आरोपियो को किया गया गिरफ्तार, मंडी के पास लिंक रोड के किनारे खड़ी ट्रक को किया था चोरी, उड़ीसा से हुई बरामद रायपुर में शिवमहापुराण कथा:पंडित प्रदीप मिश्रा का प्रवचन सुनने लाखों लोग पहुंचे , अनुमान से अधिक लोगों के पहुंचने के कारण पंडित जी को कहना पड़ा घर में...

मां अन्न्पूर्णा के दरबार में जरूरतमंदों को मिल रहा शिक्षा का दान

इंदौर। शहर के पश्चिम क्षेत्र स्थित अन्नपूर्णा मंदिर में जरूरतमंद बच्चों को शिक्षा का दान दिया जाता है। इसके साथ गो शाला के जरिए गो-सेवा और संस्कृत महाविद्यालय में बटुकों को कर्मकांड की शिक्षा लाकडाउन से इतर हर दिन यहां माता के श्रृंगारित स्वरूप के दर्शन के लिए भक्तों का तांता लगता है। साथ ही मंदिर के जीर्णोद्धार की प्रक्रिया भी जारी है।

अन्नापूर्णा मंदिर ट्रस्ट के ट्रस्टी श्याम सिंघल बताते है कि देवी अन्नणा उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में 650 बच्चों को नाम मात्रा शुल्क पर पढ़ाया जा रहा है। ये सभी बच्चे आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग से आते है। प्राथमिक और माध्यमिक शिक्षा देकर मंदिर परिवार उनके उज्जवल भविष्य की कामना करता है। इसके साथ ही संस्कृत पाठशाला में हर साल 30 बच्चों को कर्मकांड की शिक्षा दी जाती है। इनके रहने-खाने के साथ सभी खर्च मंदिर ट्रस्ट उठाता है। इसके अलावा गोशाला में 50 गाए हैं। इनकी सेवा भी आश्रम परिवार द्वारा की जा रही है।

मंदिर का निर्माण 1959 में हुआ था। द्रविड स्थापत्य शैली में बना यह मंदिर तब से ही पश्चिम इंदौर की पहचान रहा है। मंदिर के मुख्य द्वार का निर्माण 1975 में किया गया था। मंदिर की तीन फीट ऊंची संगमरमर की मां अन्नापूर्णा की प्रतिमा भक्तों के बीच आकर्षण का केंद्र है। यहां भगवान काशीनाथ की 14 फीट ऊंची प्रतिमा भी है। अब इस मंदिर निखारने का कार्य किया जा रहा है। अक्षरधाम मंदिर की तर्ज पर 20 करोड़ की लागत से मंदिर को नवीन स्वरूप दिया जा रहा है। अगले तीन साल में मंदिर के निर्माण का लक्षय रखा गया है। नए मंदिर की लंबाई 108 फीट और चौड़ाई 54 फीट होगी। मुख्य कलश की ऊंचाई 81 फीट रहेगी। मंदिर में कुल 50 स्तंभ रहेंगे। मंदिर का गर्भगृह, श्रृंगार का चौकी, परिक्रमा स्थल के साथ ही हाल का निर्माण भी किया जा रहा है।