जरूरतमंदों तक बिलासपुर निगम पहुंचा रहा भोजन, अफसर व कर्मचारियों की बनी टीम

बिलासपुर। कोरोना की जानलेवा दूसरी लहर के बीच बुधवार से लाकडाउन लग गया है। इस दौरान जरूरतमंदों को भोजन कराने और जरूरी सामान उपलब्ध कराने के लिए महापौर रामशरण यादव ने एक बार फिर व्यवस्था कर दी है। एक फोन करने पर निगम के इंजीनियर और कर्मचारी जरूरतमंदों को भोजन उपलब्ध करा रहे हैं। यह व्यवस्था बुधवार से लागू कर दी गई है। महापौर ने निगम इंजीनियरों के मोबाइल नंबर भी सार्वजनिक करा दिया है। इसके पीछे लोगों को राहत पहुंचाना माना जा रहा है।

कलेक्टर व जिला दंडाधिकारी डा.सारांश मित्तर ने 14 से 21 अप्रैल तक जिले में लाकडाउन का आदेश जारी कर दिया है। यह आदेश तीन दिन पहले प्रसारित कर दिया था। 72 घंटे पहले जारी आदेश के पीछे लोगों को अपनी जरूरत के सामान की व्यवस्था करना था। लिहाजा बीते दो दिनों तक बाजार में जमकर भीड़ उमड़ी। लोगों ने 10 दिन का खाद्यान्न् के अलावा अन्य सामानों का भंडारण भी कर लिया है। रोज कमाने और खाने वाले लोगों के सामने अब समस्या उठ खड़ी हुई है। लाकडाउन के कारण इस तरह के लोगों का एक बड़ा तबका फिर बेकार हो गया है और घरांे में बैठे हैं। काम नहीं है तो घ्ार में फांके की स्थिति है।

ऐसे ही लोगों की मदद करने के लिए नगर निगम ने एक बार फिर पहल की है। महापौर रामशरण यादव ने जरूरतमंदों तक भोजन के अलावा दवा समेत अन्य सामग्री पहुंचाने के लिए निगम इंजीनियरों व कर्मचारियों की टीम बना दी है। अधीक्षण अभियंता सुधीर गुप्ता को नोडल अधिकारी की जिम्मेदारी सौंपी है।

इंजीनियर गोपाल ठाकुर सहित अन्य इंजीनियरों की टीम बनाकर उनका मोबाइल नंबर सार्वजनिक कर दिया गया है। महापौर ने इंजीनियरों को हिदायत दी है कि उनके मोबाइल पर आने वाले हर एक काल को सुने। मदद मांगने वालों की बातों को गंभीरता से लें। उनका पता नोट करें और हर हाल में आधे घंटे के भीतर उन तक जरूरी सामान पहुंचाने की व्यवस्था करें। इसके लिए निगम के वाहनों और वाहन चालक को पूरे समय अलर्ट रहने की हिदायत दी गई है।

सूखा राशन कराएंगे उपलब्ध

महापौर की योजना पर गौर करें तो लोगों को पैकेट बंद सूखा राशन उपलब्ध कराया जा रहा है ताकि वे जरूरत के साथ ही अपने मनमुताबिक भोजन बचा सके और दूसरे के लिए राशन भी सुरक्षित कर सकेंगे। शहर की निचली बस्ती इलाकों में पैकेट बंद राशन उपलब्ध कराया गया है।