ब्रेकिंग
पंचायत के प्रथम चरण के चुनावों के बाद EVM का हुआ रेंडमाइजेशन  जी-7 समिट में हिस्सा लेने जर्मनी पहुंचे पीएम मोदी, प्रवासी भारतीयों ने गर्मजोशी से किया स्वागत किंजल की गोदभराई से लीक हुईं तस्वीरें अग्निपथ योजना के खिलाफ देशव्यापी विरोध प्रदर्शन करेगी कांग्रेस  मूंगे की माला से बढ़ती है सुख समृद्धि   माइनिंग विभाग ने बनास नदी से अवैध खनन करते एक ट्रेलर को किया जब्त रैकी कर रात के अंधेरे में बोलेरो में डालकर चुराते थे बकरियां युंगाडा की महिला ने 40 की उम्र तक 44 बच्चों को जन्म दे चुकी  प्रदर्शनकारियों के बीच पहुंचे सांसद दीपेन्द्र हुड्‌डा; 1 बजे खत्म होगा धरना पलंग के नीचे भूलकर भी न रखें ये सामान, रिश्तों में आ जाती है खटास

आज हर व्यक्ति को अपनों की चिंता सता रही

इंदौर। देश में आज कोरोना महामारी ने विकराल रूप ले लिया है। पूरे देश में यह एक भयावह स्थिति नजर आ रही है। अपनों की चिंता में आज हर आदमी अपने स्तर पर उन्हें बचाने का प्रयास कर रहा है। इस बीमारी ने आज सभी को अपनों से दूर किया है तो वहीं कई लोग अपने स्वजनों को देखना तो दूर मुखाग्नि भी नहीं दे सके। जिस तरह से शहर वह देश के मुक्तिधाम में चिताएं जल रही हैं वह सभी के लिए चिंता का विषय बना हुआ है। आज सभी लोग अपनों से दूर हो रहे हैं। यह बात भारतीय जायसवाल समाज के कोरोना से बचाव के लिए आयोजित टीकाकरण शिविर में अथितियों ने कही।

शिविर में 45 साल से ऊपर महिला एवं पुरूषों को कोरोना वैक्सीनेशन किया जा रहा है, जो इस कोरोना महामारी में इम्युनिटी बढ़ाने में उनकी मदद करेगा। जायसवाल समाज द्वारा आयोजित शिविर में सैंकड़ों समाज बंधुओं के साथ-साथ जवाहर मार्ग सहित अन्य कालोनी के आमजन भी बड़ी संख्या में शामिल हुए। पांच दिवसीय कोरोना टीकाकरण में 750 आमजनों को टीका लगाने का लक्ष्य रखा गया है, जिसमें हर दिन 150 से अधिक लोगों को टीका लगाया गया है।

अभा जायसवाल (सर्ववर्गीय) महासभा मध्यप्रदेश द्वारा आयोजित पांच दिवसीय शिविर 19 अप्रैल तक जवाहर मार्ग स्थित जायसवाल गेस्ट हाऊस पर आयोजित किया जाएगा, जिसमें सुबह 10 से शाम पांच बजे तक आमजनों सहित समाज बंधुओं को कोरोना का पहला टीका लगाया जा रहा है। जायसवाल समाज द्वारा आयोजित टीकाकरण शिविर के श्यामलाल जायसवाल, मनोज राय, हरीश जायसवाल सहित अन्य समाज बंधु शामिल हुए थे। नि:शुल्क कोरोना टीकाकरण शिविर में जायसवाल, चौकसे, शिवहरे, महोरे, मालवीय, राय, एवं कलाल कलवार समाज के साथ-साथ अन्य समाजों के बुजुर्ग एवं महिला-पुरूष के लिए भी लगाया गया है।