ब्रेकिंग
आर्थिक आधार से गरीब लोगों के आरक्षण में कटौती के विरोध में आज भाटापारा अनुविभागीय अधिकारी के कार्यालय जाकर राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा गया विधानसभा विशेष सत्र। विधानसभा सत्तापक्ष पर जमकर बरसे विधायक शिवरतन शर्मा, आरक्षण रुकवाने जो लोग कोर्ट गए उन्हें मुख्यमंत्री जी पुरस्कृत करते हैं,सत्र ... रायपुर विधानसभा विशेष सत्र। विधानसभा में आरक्षण बिल के दौरान ब्राह्मण नेताओं पर जमकर बरसे बलौदाबाजार विधायक प्रमोद शर्मा, उनके मुंह पर करारा तमाचा मार... अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद भाटापारा नगर इकाई की हुई घोषणा मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने मंडी समिति के नए सदस्य को दिलाई शपथ, उद्बोधन में कहा भारसाधक पदाधिकारीयो की नियुक्ति के बाद से मंडी लगातार चहुमुखी विकास क... मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने धान ख़रीदी केंद्रो का निरीछन कर, धान बेचने आये किसानो से मुलाक़ात कर, धान बेचने में आने वाली समस्या की जानकारी ली, किसानों... ग्राम मर्राकोना में नवीन धान उपार्जन केंद्र के शुभारंभ अवसर पर मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने कहा भूपेश सरकार किसानों की सरकार है ग्राम मर्राक़ोंना में नवीन धान उपार्जन केंद्र को मिली हरी झंडी मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने दी जानकारी ट्रक चोरी करने वाले 06 आरोपियो को किया गया गिरफ्तार, मंडी के पास लिंक रोड के किनारे खड़ी ट्रक को किया था चोरी, उड़ीसा से हुई बरामद रायपुर में शिवमहापुराण कथा:पंडित प्रदीप मिश्रा का प्रवचन सुनने लाखों लोग पहुंचे , अनुमान से अधिक लोगों के पहुंचने के कारण पंडित जी को कहना पड़ा घर में...

स्‍कूल बंद करने का स्पष्ट आदेश जारी न होने से असमंजस में प्राचार्य

भोपाल। स्कूल शिक्षा विभाग ने पहली से आठवीं कक्षा तक के स्कूलों में 13 जून तक ग्रीष्मावकाश घोषित किया है। साथ ही प्राथमिक व मिडिल स्कूलों के शिक्षकों के लिए भी 9 जून तक ग्रीष्मावकाश दिया है। इसके बावजूद राजधानी भोपाल के 100 से अधिक शिक्षकों को कोरोना में ड्यूटी लगाई हैं। वहीं एक शाला एक परिसर के तहत समायोजित स्कूलों के शिक्षकों को प्राचार्य ग्रीष्मावकाश नहीं दे रहे हैं। वहीं नौवीं से बारहवीं के स्कूलों को बंद करने को लेकर विभाग ने कोई स्पष्ट आदेश जारी नहीं किए हैं। ऐसे में हाईस्कूल व हायर सेकेंडरी के प्राचार्य असमंजस में हैं कि शिक्षकों को स्कूल बुलाया जाए या नहीं। वहीं स्कूलों 17 अप्रैल से 20 मई तक दसवीं व बारहवीं की प्रायोगिक परीक्षाएं आयोजित की जा रही है। जिसके लिए स्कूलों के प्रयोगशालाओं को तैयार भी करना है।

शिक्षकों को कोरोना योद्धा घोषित करने की मांग

वहीं, शिक्षक संगठन शिक्षकों को कोरोना योद्धा घोषित किए जाने की मांग कर रहे हैं। मप्र शिक्षक कांग्रेस के प्रांतीय प्रवक्ता सुभाष सक्सेना, शासकीय अध्यापक संगठन के प्रदेश संयोजक उपेंद्र कौशल ने बताया कि जिला प्रशासन की ओर से जिले के 100 से अधिक शिक्षकों को कोरोना आपदा सेंटर में ड्यूटी लगाई गई है। इसमें शिक्षकों को कोरोना संदिग्धों की पहचान व उनकी जानकारी जुटाना, संदिग्धों का कोरोना परीक्षण एवं वैक्सीनेशन, होम आइसोलेशन आदि कार्य पूरा करना है। साथ ही कोरोना टीकाकरण जागरूकता कार्यक्रम में उन्‍हें लगाया गया है। वहीं जिले के करीब 60 शिक्षक कोरोना पॉजिटिव हैं। इसके बाद भी स्कूल शिक्षा विभाग न तो शिक्षकों को कोरोना योद्धा मान रही है और ना ही फ्रंटलाइन कर्मचारी मानकर 45 वर्ष से कम उम्र के शिक्षकों को टीका लगवा रही है। इससे शिक्षकों में निराशा व्‍याप्‍त हो रही है।