Braz
ब्रेकिंग
ग्रीस में छुट्टियां मनाकर लौटे हार्दिक पांड्या फतेहाबाद में 2 शिकायतों के बाद सेंट्रल बैंक की जांच में खुलासा; हैड कैशियर पर FIR युवक की तलाश करने उतरे मछुआरे की मिली लाश 10 महीने बाद किसानों ने खोला मोर्चा, लखीमपुर बना ‘मिनी पंजाब’; केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र टेनी की बर्खास्तगी की मांग शहर में 10 घंटे रहेंगे शाह... सुरक्षा में तैनात रहेंगे 40 आईपीएस अफसर और 3000 जवान बिहार में मौसम विभाग का अलर्ट दवा के साथ न करें इन चीजों का सेवन सबरीमाला मंदिर का इतिहास भगवान श्रीकृष्ण की हर लीला भक्तों के मन को है लुभाती निजी क्षेत्र में देश का सबसे बड़ा 2600 बेड का है अस्पताल, 64 आपरेशन थियेटर, 81 गंभीर बीमारियों के स्पेशलिस्ट डॉक्टर करेंगे इलाज

विशेष विमान से आए 600 रैमडेसिविर,शाम तक बंट भी गए

ग्‍वालियर। रविवार को विशेष विमान से 600 रेमडेसिविर इंजेक्शन का स्टॉक ग्वालियर आया जो कि शाम तक ही अधिकारियों की निगरानी में बांट दिया गया। इसके अलावा मेडिकल कॉलेज के पास रेमडेसिविर इंजेक्शन उपलब्ध हैं। मौजूदा व्यवस्था के तहत अस्पतालों में ही रेमडेसिविर इंजेक्शन लगाए जा रहे हैं। व्यक्तिगत तौर पर मरीज के अटेंडेंट को इंजेक्शन नहीं दिया जा रहा है। इसके बाद भी लोग रोज मेडिकल पर कतार और भीड़ लगाए इसके इंतजार में बैठे रहते हैं।

निजी अस्पताल अधिक रेट न चार्ज करे

कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह ने रविवार को आदेश जारी कर निजी अस्पतालों को निर्देश जारी किए हैं। इसमें कहा गया है कि रैमडेसिविर इंजेक्शन जिस रेट में अस्पताल डीलर से खरीद रहे हैं, उससे अधिक रेट में मरीजों के लिए चार्ज न किया जाए। यदि कोई अस्पताल एमआरपी से अधिक रेट में चार्ज करते पाया गया तो वैधानिक कार्रवाई की जाएगी।

गाइडलाइन के अनुसार रेमडेसिविर इंजेक्शन गंभीर मरीजों के लिए है, इसे अनावश्यक तौर पर नहीं लगनावा चाहिए। अस्पतालों में इंजेक्शन की सप्लाई की जा रही है। रविवार को भी 600 इंजेक्शन संबंधित अस्तपालों को भेजे गए। सख्त निर्देश हैं कि गंभीर मरीज जिन्हें डॉक्टर ने लगाने की सलाह दी है, उन्हें ही इंजेक्शन उपलब्ध कराया जाए।

Braz