Braz
ब्रेकिंग
ग्रीस में छुट्टियां मनाकर लौटे हार्दिक पांड्या फतेहाबाद में 2 शिकायतों के बाद सेंट्रल बैंक की जांच में खुलासा; हैड कैशियर पर FIR युवक की तलाश करने उतरे मछुआरे की मिली लाश 10 महीने बाद किसानों ने खोला मोर्चा, लखीमपुर बना ‘मिनी पंजाब’; केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र टेनी की बर्खास्तगी की मांग शहर में 10 घंटे रहेंगे शाह... सुरक्षा में तैनात रहेंगे 40 आईपीएस अफसर और 3000 जवान बिहार में मौसम विभाग का अलर्ट दवा के साथ न करें इन चीजों का सेवन सबरीमाला मंदिर का इतिहास भगवान श्रीकृष्ण की हर लीला भक्तों के मन को है लुभाती निजी क्षेत्र में देश का सबसे बड़ा 2600 बेड का है अस्पताल, 64 आपरेशन थियेटर, 81 गंभीर बीमारियों के स्पेशलिस्ट डॉक्टर करेंगे इलाज

टीका पर टिप्पणी करने वाले अब हो गए टीकाकरण के पक्षधर: कौशिक

बिलासपुर। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक का कहना है कि प्रदेश की सरकार कोरोना के रोकथाम करने में पूरी तरह से नाकाम साबित हो रही है। जब महामारी की तैयारी करनी थी, तब सरकार गंभीर नहीं थी।

केंद्र सरकार टीकाकरण अभियान को जन अभियान बनाने में जुटी थी, तब हमारे मुख्यमंत्री व स्वास्थ्य मंत्री टीकाकरण अभियान पर टीका-टिप्पणी करने से नहीं चूकते थे। पूरे प्रदेश में 70 लाख टीकाकरण का लक्ष्य था तो अभी करीब 48 लाख ही हो पाया है। इसकी गति में तेजी लाई जाती तो कोरोना पर अंकुश लगाने में सफलता मिल जाती।

भाजपा कार्यालय बिलासपुर में पत्रकारों से चर्चा करते हुए नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि प्रदेश सरकार के पास कोई योजना नहीं है और हमारे सार्थक सुझावों पर भी अमल नहीं किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जब प्रदेश में प्रतिदिन 50 हजार कोरोना जांच हो रहे हैं और करीब 15 हजार पाजिटिव मामले आ रहे हंै। इससे तय है कि तेजी से लगातार कोरोना का विस्तार हो रहा है।

जांच को और बढ़ाया जाना चाहिए। प्रदेश में कोरोना जांच के बाद भी समय पर रिपोर्ट नहीं मिल रहा है। यह भी कोरोना के विस्तार का एक मुख्य कारण है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के हर जिलों में कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि शराब में जो 400 करोड़ की सेस की राशि और डीएमएफ के पैसे का खर्चा कहां किया जा रहा है यह भी सबको बताना चाहिए।

प्रदेश में कोरोना को लेकर पैसे की कमी नहीं है। सिर्फ इच्छा शक्ति और सही योजना की कमी है। प्रदेश में करीब 6000 लोगों की अब तक कोरोना से मौत हो चुकी है। इन 380 दिनों में करीब 450 लोगों की मौतें हर माह हुई है। जो बेहद ही भयभीत करने वाला आंकड़ा है।

नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने सुझाव दिया है कि बिलासपुर में जिले मेडिकल टीम की भर्ती तत्काल हो, इसके साथ ही छात्रावासों में अस्थाई कोविड अस्पताल खोला जाए। इसके साथ ही सामाजिक संस्थाओं के इस पीड़ाकाल में मदद ली जाए। ताकि कोरोना की लड़ाई में सबकी सहभागिता तय हो सके।

उन्होंने कहा कि रेल्वे की बोगियों में अस्थाई अस्पलात बनाने और तीन माह तक गरीबों को मुफ्त अनाज दिया जाना चाहिए। इस दिशा में प्रशासन को जल्द फैसला लेना चाहिए। प्रेस कांफ्रेस में प्रदेश महामंत्री भूपेन्द्र सवन्न्ी, राज्य महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष श्रीमती हर्षिता पांडेय व जिला महामंत्री मोहित जायसवाल शामिल उपस्थित रहे।

विरोध में कार्यकर्ता देंगे सांकेतिक धरना: सवन्नी

भाजपा प्रदेश महामंत्री भूपेन्द्र सवन्नी ने कहा कि प्रदेश सरकार की हठधर्मिता के कारण कोरोना ने विकाल स्वरूप ले लिया है। नीति और नीयत सही होती तो इस कोरोना पर अंकुश लगाने में प्रदेश सरकार सफल होती। भाजपा के कार्यकर्ता कोरोना के जारी लड़ाई में जन सहयोग के लिए पूरे प्रदेश में काम कर रहें है। इसी क्रम 24 अप्रैल को एक साथ प्रदेश सरकार के विरोध में सांकेतिक धरना देंगे।

Braz