ब्रेकिंग
श्रीराम सेना का दावा- कर्नाटक में 500 अवैध चर्च ग्राम देवादा में जल सभा का आयोजन एक ही परिवार के 3 लोगों के मर्डर का खुलासा, परिजन ही निकले हत्यारे, ये बनी हत्या की वजह मनरेगा में काम के दिन बढ़ाए जाएंगे, मुख्य सचिव ने योजना की समीक्षा कर दिए निर्देश मिशन नगरोदय का शुभारंभ: CM शिवराज बोले- कांग्रेस सरकार में कमलनाथ कहते थे मामा खजाना खाली कर गया सॉ मिल में लगी भीषण आग, दमकल विभाग को आस-पास से संयंत्रों से मंगानी पड़ी दमकल गाड़ियां हिट एंड रन: फुटपाथ पर सो रही महिला पर युवक ने चढ़ाई कार, इधर सड़क हादसे में घायल को मंत्री सारंग ने अस्पताल भिजवाया रहस्यमयी बुखार ने बढ़ाया टेंशन अमित शाह ने दिया हर संभव मदद का भरोसा कमजोर मनोबल वाले बच्चे को पढ़ने न भेजे अकेले, ज्योतिष गणना से जाने बच्चे का मनोबल, शांति के करें हनुमान चालीसा का पाठ

हाथरस दुष्कर्मः कांग्रेस का प्रदर्शन, कई कार्यकर्ता हिरासत में लिए गए

नई दिल्लीः उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले में सामूहित दुष्कर्म पीड़ित दलित लड़की की मौत के बाद पूरे देश में आक्रोश है। राजनीति से लेकर बॉलीवुड जगत ने इस घटना की निंदा करते हुए दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है। कांग्रेस और दिल्ली प्रदेश महिला कांग्रेस कमेटी के कई नेताओं एवं कार्यकर्ताओं ने हाथरस मामले को लेकर मंगलवार को यहां विजय चौक पर प्रदर्शन किया जिसके बाद पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया।

विरोध प्रदर्शन के दौरान पुनिया ने कहा, ‘‘ देश में महिलाओं के लिए सबसे ज्यादा असुरक्षित उत्तर प्रदेश है।महिलाओं के साथ हर रोज बलात्कार और अत्याचार की घटनाएं बढ़ रहीं है। योगी जी अपनी चुनावी रैलियों में व्यस्त है। हम आवाज उठाते रहेंगे। हम झुकने वाले नहीं हैं।” कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी एल पुनिया और पूर्व सांसद उदित राज तथा दिल्ली महिला कांग्रेस की अध्यक्ष अमृता धवन समेत कई नेता एवं कार्यकर्ता हिरासत में लिए गए। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि प्रदर्शनकारियों को मंदिर मार्ग थाने ले जाया गया।

वहीं, कांग्रेस ने योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा सरकार में ‘जंगलराज’ स्थापित हो गया है तथा ऐसी घटनाओं के लिए प्रदेश सरकार की जवाबदेही बनती है। पार्टी ने यह भी कहा कि इस मामले में त्वरित न्याय सुनिश्चित होना चाहिए और शुरुआत में घटना को ‘आधिकारिक रूप से’ फर्जी खबर बताने के लिए भाजपा सरकार को माफी मांगनी चाहिए।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ‘‘उप्र के ‘वर्ग-विशेष’ के जंगलराज ने एक और युवती को मार डाला। सरकार ने कहा कि ये फ़ेक न्यूज़ है और पीड़िता को मरने के लिए छोड़ दिया। ना तो ये दुर्भाग्यपूर्ण घटना फ़ेक थी, ना ही पीड़िता की मौत और ना ही सरकार की बेरहमी।” कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने इस घटना को लेकर राज्य सरकार पर निशाना साधा और दावा किया कि प्रदेश में कानून-व्यवस्था हद से ज्यादा बिगड़ चुकी है व महिलाओं की सुरक्षा का नाम-ओ-निशान नहीं है। उन्होंने यह भी कहा कि महिलाओं की सुरक्षा के प्रति मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की जवाबदेही है।

कांग्रेस के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने इस घटना के विरोध में दिल्ली में विजय चौक पर प्रदर्शन किया। पार्टी सूत्रों का कहना है कि प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी एल पूनिया और दिल्ली प्रद्रेश महिला कांग्रेस की अध्यक्ष अमृता धवन तथा कई अन्य नेताओं एवं कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया।

गौरतलब है कि हाथरस में सामूहिक दुष्कर्म की शिकार 19 वर्षीय दलित लड़की की मंगलवार सुबह दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में मौत हो गई। हाथरस जिले के चंदपा थाना क्षेत्र स्थित एक गांव में 14 सितंबर को 19 साल की एक दलित लड़की के साथ कथित तौर पर सामूहिक दुष्कर्म की वारदात हुई थी। पुलिस ने इस मामले में चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है।