ब्रेकिंग
लंबे समय बाद स्टेज पर दिखे शाहरुख खान कुछ सरल वास्तु उपाय जो घर मे लाएंगे बरक्कत डोमेस्टिक का चार्ज लगेगा, बिजली बिलों में 2 रुपए प्रति यूनिट का मिलेगा फायदा एक महीने में हुए चार 'दुराचारी सभा' में पहुंचे सिर्फ 844 हिस्ट्रीशीटर,दरी पर बैठना उन्हें नहीं पसंद बोले- 5 साल से कर रहा था तैयारी, अब बना राजस्थान का टॉपर गुरु अमरदास एवेन्यू के निवासियों ने ब्लॉक किया जीटी रोड, MLA के खिलाफ प्रदर्शन भूप्रेंद्र सिंह हुड्‌डा ने कहा गांधीवादी तरीके से करेंगे विरोध, सरकार रद्द करके अग्निपथ फर्जी दस्तावेज तैयार कर कब्जाई थी जमीनें, पुलिस की गिरेबान पर हाथ डालने के बाद आया था चर्चा में सनी नागपाल भुवनेश्वर कुमार तोड़ेंगे पाकिस्तानी गेंदबाज का रिकॉर्ड डेब्यू मैच में फ्लॉप रहे उमरान मलिक

आरपीएफ उपलब्ध कराएगी कोरोना से जुड़ी व्यवस्था की जानकारी

बिलासपुर।  शहर में कोविड-19 के कितने अस्पताल हैं, वहां तक कैसे पहुंचा जा सकता है। इन सभी जानकारियों के लिए अब यात्रियों को जोनल स्टेशन में इधर-उधर भटकने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। आरपीएफ ने कोविड-19 सहायता केंद्र स्थापित कर नई पहल की है। इसमें कोरोना से जुड़ी सभी व्यवस्थाओं की आवश्यक जानकारियां दी जाएंगी। मंगलवार से यह केंद्र अस्तित्व में आ गया है।

अभी संकट का दौर है। शहरवासी हों या ट्रेन में सफर करने वाले यात्री। सभी को मदद की आवश्यकता पड़ रही है। जोनल स्टेशन में रेलवे सुरक्षा बल इसे महसूस भी कर रहा था। इसे देखते हुए ही आरपीएफ के प्रधान मुख्य सुरक्षा आयुक्त एएन सिन्हा व मंडल सुरक्षा आयुक्त ऋ षि कुमार शुक्ला ने सहायता केंद्र की सुविधा देने का निर्णय लिया। अधिकारियों से निर्देश मिलते ही गेट क्रमांक चार के पास अलग से सहायता केंद्र बनाया गया। इस जगह को इसलिए चुना गया, क्योंकि यात्रियों के बाहर निकलने की व्यवस्था केवल इसी गेट से है।

गेट के पास ही स्वास्थ्य विभाग की टीम यात्रियों की कोरोना जांच कर रही है। इस केंद्र में आरपीएफ का एक जवान हमेशा तैनात रहेगा। उनकी ड्यूटी तीन शिफ्ट में लगेगी। इस दौरान उन्हें कोविड 19 के संबंध में आवश्यक जानकारी व दिशा-निर्देश और अस्पतालों की सूची दी जाएगी। ड्यूटी के दौरान कोई भी यात्री इस सहायता केंद्र से सहायता या पूछताछ कर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

मास्क पर भी रहेगी नजर

इस केंद्र से सहायता के साथ-साथ आरपीएफ बिना मास्क के यात्रियों की जांच भी कर सकते हैं। यदि कोई नहीं पहना है तो उन्हें निर्देश भी दिया जाएगा। सहायता केंद्र के बाहर सफर के दौरान बरती जाने वाली सावधानियों का पोस्टर भी चस्पा किया गया है। इसे भी देखकर यात्रियों में जागरूकता आएगी।