‘ठेके-पटटे, तबादला-तैनाती’ से रहें दूर : सीएम योगी

लखनऊ. सीएम योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश विधानसभा में नए सदस्यों को सलाह देते हुए कहा कि नकारात्मकता किसी जनप्रतिनिधि को कभी आगे नहीं बढ़ा सकती। सीएम योगी ने शनिवार (21 मई 2022) को विधानसभा के नवनिर्वाचित सदस्यों को नसीहत देते हुए कहा कि सकारात्मक भाव के साथ काम करते हुए जब हम जन अपेक्षाओं पर खरे उतरते हैं, तब जनता हमें बार-बार समर्थन देती है।
सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि एक विधायक के रूप में वह इस निष्कर्ष पर पहुंचे हैं कि एक जनप्रतिनिधि अपना जीवन जितना व्यवहारिक बना ले, जनता के साथ उसका संवाद जितना अच्छा होगा, जनता की अपेक्षाओं पर वह उतना ही खरा उतरता दिखाई देगा. गोरखपुर संसदीय क्षेत्र से पांच बार सांसद रह चुके योगी आदित्यनाथ 18वीं विधानसभा में पहली बार गोरखपुर शहर क्षेत्र से सदस्य चुन कर आये हैं. पिछली बार वह विधान परिषद का सदस्य रहते हुए पांच वर्ष तक नेता सदन (मुख्यमंत्री) की भूमिका में रहे.
उल्लेखनीय है कि लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला ने शुक्रवार को यहां उत्तर प्रदेश विधान सभा में ई-विधान व्यवस्था एवं 18वीं विधानसभा के नवनिर्वाचित सदस्यों के प्रबोधन कार्यक्रम का आरंभ किया. उप्र की 403 सदस्यों वाली विधानसभा के सत्र की शुरुआत सोमवार से हो रही है और यह पहली बार होगा जब सत्र की कार्रवाई पेपरलेस (कागज विहीन) होगी. इस दौरान सीएम योगी ने कहा कि ‘नकारात्मकता किसी जनप्रतिनिधि को कभी आगे नहीं बढ़ा सकती है. मैंने हमेशा देखा है, मैंने इस चुनाव में भी देखा कि एक सदस्य छोटी-छोटी बातों को लेकर जाम करते थे. विकास की कोई योजना आती तो भी धरना प्रदर्शन करते थे. विधानसभा का जिस दिन परिणाम आया, मैंने कहा उस क्षेत्र का परिणाम बताओ तो पता चला कि वे चौथे नंबर पर थे.