ब्रेकिंग
आर्थिक आधार से गरीब लोगों के आरक्षण में कटौती के विरोध में आज भाटापारा अनुविभागीय अधिकारी के कार्यालय जाकर राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा गया विधानसभा विशेष सत्र। विधानसभा सत्तापक्ष पर जमकर बरसे विधायक शिवरतन शर्मा, आरक्षण रुकवाने जो लोग कोर्ट गए उन्हें मुख्यमंत्री जी पुरस्कृत करते हैं,सत्र ... Selecting the right Virtual Info Room Supplier रायपुर विधानसभा विशेष सत्र। विधानसभा में आरक्षण बिल के दौरान ब्राह्मण नेताओं पर जमकर बरसे बलौदाबाजार विधायक प्रमोद शर्मा, उनके मुंह पर करारा तमाचा मार... Making a Cryptocurrency Beginning अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद भाटापारा नगर इकाई की हुई घोषणा मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने मंडी समिति के नए सदस्य को दिलाई शपथ, उद्बोधन में कहा भारसाधक पदाधिकारीयो की नियुक्ति के बाद से मंडी लगातार चहुमुखी विकास क... मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने धान ख़रीदी केंद्रो का निरीछन कर, धान बेचने आये किसानो से मुलाक़ात कर, धान बेचने में आने वाली समस्या की जानकारी ली, किसानों... ग्राम मर्राकोना में नवीन धान उपार्जन केंद्र के शुभारंभ अवसर पर मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने कहा भूपेश सरकार किसानों की सरकार है ग्राम मर्राक़ोंना में नवीन धान उपार्जन केंद्र को मिली हरी झंडी मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने दी जानकारी

स्वास्थ्य मंत्री का दावा- साल 2020 में देश के 116 जिलों में मलेरिया का एक भी मामला नहीं आया सामने

नई दिल्ली। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने शुक्रवार को कहा कि 2020 में देश के 116 जिलों में मलेरिया का एक भी मामला सामने नहीं आया। इस तरह भारत इस बीमारी में 84.5 फीसद और मौत में 83.6 फीसद कमी लाने में कामयाब रहा है।

25 अप्रैल को है विश्व मलेरिया दिवस

उन्होंने कहा कि देश की इस उपलब्धि को विश्व मलेरिया रिपोर्ट 2018, 2019 और 2020 में भी मान्यता दी गई है। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी भारत की राजनीतिक प्रतिबद्धता और तकनीकी नेतृत्व को सक्षम बनाने की सराहना की है। वर्धन ने कहा कि 25 अप्रैल को हर साल विश्व मलेरिया दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस साल का थीम है-शून्य मलेरिया लक्ष्य हासिल करना।

बता दें कि इस वक्त देश पहले ही कोरोना महामारी के चपेट में है। ऐसे में हम सभी को एहतियात बरतनी चाहिए। चूंकि, मलेरिया बीमारी मच्‍छर के काटने से होती है इसलिए बच्‍चें को मच्‍छरों से दूर रखें। अपने घर के आसपास पानी न भरने दें। बारिश के मौसम में किसी भी कंटेनर आदि में पानी जमा न होने दें और समय-समय पर कूलर को साफ करें।

इसके साथ ही बच्‍चे को हल्‍के रंग के कपड़े पहनाएं। माना जाता है कि गहरे रंग के कपड़ों पर मच्‍छर जल्‍दी आते हैं। सभी लोगों को सलाह दी जाती है कि पूरी बाजू के कपड़े पहने। मच्‍छर मारने की दवाओं का इस्‍तेमाल करें और सोते समय मॉस्‍किटो नैट लगाएं।