ब्रेकिंग
भाजपा विधायक का समर्थक निकला धर्मांतरण मामले का मुख्य आरोपी सुनील जाखड़ भाजपा में हुए शामिल इंदौर में पिछड़ा वर्ग की पांच सीटें बढ़ेंगीं प्रदेश में सामाजिक सौहार्द बनाए रखना सर्वोच्च प्राथमिकता : मुख्यमंत्री चौहान जब मंटूराम ने मुख्यमंत्री को बताया कि पत्नी संग रातभर करता हूं गोबर की चौकीदारी औद्योगिक क्षेत्र पीथमपुर की पारेषण क्षमता में वृद्धि पीएम क‍िसान और राशन कार्ड के लाभार्थ‍ियों में हड़कंप, सरकार ने भेजा र‍िकवरी नोट‍िस फीचर फोन से बिना इंटरनेट भी आप कर सकते हैं UPI पेमेंट, ये है तरीका क्या जरूरी दवाइयों की कीमत कम होने वाली है? कल NPPA की बैठक में लिया जाएगा फैसला सच बोलो तो बदनाम करेंगे बड़े नेता : हार्दिक पटेल

IPL 2021: रॉयल्स पर क्या भारी पड़ेंगे नाइट राइडर्स, जानिए क्या कहते हैं आंकड़े

नई दिल्ली। IPL 2021 KKR vs RR Head to Head: इंडियन प्रीमियर लीग यानी आइपीएल के 14वें सीजन के 18वें मैच में राजस्थान रॉयल्स को कोलकाता नाइट राइडर्स से भिड़ना है। इस मुकाबले से पहले दोनों टीमों के बीच अब तक हुई टक्कर के बारे में जान लीजिए। कोलकाता और राजस्थान के बीच हमेशा एक दिलचस्प जंग लगी रहती है, लेकिन कोलकाता की टीम के आंकड़े राजस्थान के खिलाफ बेहतर हैं।

कोलकाता और राजस्थान के बीच अब तक 23 मुकाबले खेले जा चुके हैं। इनमें से 12 मुकाबले केकेआर ने जीते हैं, जबकि 10 मैचों में राजस्थान को जीत नसीब हुई है। वहीं, एक मुकाबला दोनों टीमों के बीच बेनतीजा रहा है, जो बारिश के कारण रद हो गया था। इस तरह कोलकाता के आंकड़े राजस्थान की टीम के खिलाफ बेहतर हैं, जो आइपीएल 2021 के इस मुकाबले में केकेआर को मानसिक बढ़त दिलाएंगे।

कोलकाता नाइट राइडर्स और राजस्थान रॉयल्स के बीच हुए पिछले सात मैचों की बात करें तो यहां राजस्थान के आंकड़े और भी ज्यादा खराब हैं, क्योंकि सिर्फ एक ही मैच राजस्थान की टीम जीत पाई है। 2018 के बाद से आइपीएल में वापसी करते हुए राजस्थान की टीम ने कोलकाता के खिलाफ 7 मुकाबले खेले हैं, जिसमें सिर्फ 2019 के आइपीएल में राजस्थान को एक मैच में जीत मिली है, जबकि 6 मैच राजस्थान की टीम ने हारे हैं।

वहीं, अगर दोनों टीमों के आइपीएल 2021 के सफर की बात करें तो कोलकाता नाइट राइडर्स ने पहला मुकाबला जीता था, जबकि लगातार तीन मैच टीम ने गंवाए हैं, जबकि राजस्थान रॉयल्स को पहले मैच में आखिरी गेंद पर हार मिली थी और दूसरा मैच जीता था, लेकिन इसके बाद से लगातार दोनों मैचों में राजस्थान की टीम को हार मिली है। ऐसे में वापसी का अतिरिक्त दबाव दोनों टीमों पर इस मुकाबले से पहले होगा।