ब्रेकिंग
केरल में भारी बारिश, IMD ने जारी किया येलो अलर्ट; खोले गए 2 बांध जयपुर से लौटे रमन, कहा- भाई-भतिजावाद और परिवारवाद की वजह से कांग्रेस की हुई ये स्थिति अब इस प्राइवेट सेक्टर के बैंक ने एफडी की ब्याज दरों में की बढ़ोतरी, जानें लेटेस्ट ब्याज दर NIA अफसर तंजील अहमद मर्डर केस में मुनीर और रैयान को फांसी की सजा ज्ञानवापी मामले में ‘शिवलिंग’ पर आपत्तिजनक पोस्ट करने वाले प्रोफेसर रतन लाल को ज़मानत, जानें कोर्ट में क्या-क्या हुआ पेटीएम को हुआ 762 करोड़ रुपये का घाटा, कंपनी ने कहा- सही रास्ते पर कारोबार जिला जज को हैंडओवर की ज्ञानवापी केस की रिपोर्ट UP विधानसभा लोगों की आकांक्षाओं को पूरा करेगी : सतीश महाना 'ठेके-पटटे, तबादला-तैनाती' से रहें दूर : सीएम योगी ईयर फोन का ज्यादा इस्तेमाल हो सकता है खतरनाक, कानों को हो सकते हैं ये गंभीर नुकसान

निलंबित नर्सिंग और पैरामेडिकल स्टाफ को बहाल कर कोरोना में लगाई जाएगी ड्यूटी

भोपाल। प्रदेश भर में कोरोना के मरीजों की संख्या पौने पांच लाख तक पहुंच गई है। मौजूदा स्थिति में पूरे प्रदेश में 87640 एक्टिव केस हैं। ऐसे में मरीजों के इलाज के लिए अस्पतालों में स्टाफ की कमी बड़ी चुनौती बन रही है। डॉक्टरों के साथ ही नर्सिंग स्टाफ और पैरामेडिकल कर्मचारियों की कमी को दूर करने के लिए अब स्वास्थ्य आयुक्त आकाश त्रिपाठी ने निलंबित कर्मचारियों को बहाल कर कोरोना मे ड्यूटी लगाने का आदेश दिया है।

स्वास्थ्य आयुक्त आकाश त्रिपाठी द्वारा सभी क्षेत्रीय संचालकों को भेजे आदेश में निलंबित तृतीय श्रेणी कर्मचारियों (नर्सिंग व पैरामेडिकल स्टाफ) को तत्काल बहाल करने को कहा है। आयुक्त ने रीजनल डायरेक्टर्स को अपने अधीनस्थ जिलों के विभिन्न मामलों में निलंबित तृतीय श्रेणी नर्सिंग कर्मचारियों व पैरामेडिकल स्टाफ लैब टेक्नीशियन, कम्पाउंडर, फार्मासिस्ट, रेडियोग्राफर के अलावा मैदानी कर्मचारियों एएनएम, एमपीडब्ल्यू, पर्यवेक्षक, बीईई को बहाल कर कोरोना मरीजों के इलाज संबंधी सेवाओं में ड्यूटी लगाने के आदेश दिए हैं। हालांकि रिश्वत लेते हुए ट्रेप हुए और व्यापमं में लंबित कर्मचारियों को बहाल नहीं किया जाएगा।