पहले कोरोना वारियर्स का मिले दर्जा, फ‍िर एक दिन के वेतन कटौती पर देंगे सहमति

रायपुर। छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन ने शिक्षकों के एक दिन के वेतन कटौती को लेकर असहमति जता दी है। एसोसिएशन के कहा है कि पहले शिक्षकों कोरोना वारियर्स का दर्जा दें। उसके बाद एक दिन के वेतन कटौती पर सहमति देंगे।

एसोसिएशन प्रदेश अध्यक्ष संजय शर्मा ने कहा कि प्रदेश के हजारों शिक्षकों का चेक पोस्ट, वैक्सीनेशन, रेलवे स्टेशन, क्वारंटाइन सेंटर, टेस्टिंग आदि में ड्यूटी लगाया गया है, जिसके कारण कोरोना संक्रमित होकर 100 से भी ज्यादा शिक्षक दिवंगत हो चुके हैं। इससे ड्यूटी कर रहे हजारों शिक्षक भयभीत हैं।

इधर छत्तीसगढ़ शासन वित्त विभाग द्वारा 22 अप्रैल को मुख्यमंत्री राहत कोष में एक दिन का वेतन कटौती करने का आदेश जारी किया गया है, जिसमें कुछ संगठनों के सहमति का उल्लेख किया गया है

इधर, युवाओं को मुफ्त में वैक्सीन की डोज पर युवा कांग्रेस ने किया स्वागत

देश में कई राज्यों में वैक्सीन को मूल्य लेकर सियासी बवाल मचा हुआ है। देश में एक मई से 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों काे वैक्सीन का डोज लगाना शुरू हो जाएगा। दूसरी ओर छत्तीसगढ़ सरकार ने वैक्सीन को लेकर बड़ी राहत दी है। भूपेश सरकार ने प्रदेश में लगाने वैक्सीन को मुफ्त में लगाने का निर्णय लिया है।

इधर इस निर्णय को लेकर छत्तीसगढ़ युवा कांग्रेस ने स्वागत किया है। युवा कांग्रेस के प्रदेश महासचिव गुलजेब अहमद ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार अपनी युवा विरोधी नीतियों के चलते देशभर में 18 वर्ष से ऊपर आयु वर्ग के लोगों शुल्क वैक्सीन लगाए जाने का आदेश पारित किया गया था। इसके बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने युवाओं को मुफ्त में वैक्सीन मुहैया करने का निर्णय लिया है।