विश्नोई का सुझाव, पशुपालन विभाग के पास चार टैंकर, हर शहर को मिले एक-एक

जबलपुर। आक्सीजन को लेकर जारी जद्दोहद जारी है। अब आक्सीजन के साथ उसे परिवहन करने वाले टैंकर को लेकर भी परेशानी आ रही है। इस समस्या का काफी हद तक कम करने के लिए पाटन विधायक अजय विश्नोई ने सरकार को सुझाव दिए है। उन्होंने बताया कि पूर्व में जब वो पशुपालन मंत्री थे तो उन्हें विभाग में टैंकर होने की जानकारी थी। ऐसे में उन्होंने पता लगाया तो चार आक्सीजन के टैंकर होने की जानकारी लगी। इस बात को उन्होंने सीधे मुख्यमंत्री तक पहुंचाया। उन्होंने सुझाव दिया कि चार टैंकर जो पशुपालन विभाग के पास है उसमें एक-एक आक्सीजन टैंकर जबलपुर, भोपाल, इंदौर और ग्वालियर को बांट दिया जाए।

6-6 टन क्षमता के ये आक्सीजन टैंकर में काफी समस्या का निदान हो सकता है। अजय विश्नोई ने कहा कि उनके सुझाव को मुख्यमंत्री ने अमल में लाने का भरोसा दिया है। उन्होंने कहा मौजूदा परिस्थितियों में बूंद-बूंद से घड़ा भरता है ऐसे में जहां से भी हो सके आक्सीजन और उसके परिवहन की व्यवस्था होनी चाहिए। उन्होंने बताया कि रायगढ़ मे जिंदल के प्लांट से सरकार का करार है जहां से आक्सीजन मिल सकती है।

इस संबंध में लगातार अजय विश्नोई मुख्यमंत्री से संवाद कर आक्सीजन की आपूर्ति करने पर जो दे रहे हैं। उन्होंने जबलपुर में संजीवनी अस्पताल में आक्सीजन का नया प्लांट स्थापित करवाया ताकि आक्सीजन की कमी दूर हो सके। इधर सांसद राकेश सिंह ने भी छत्तीसगढ़ के भिलाई से प्लांट से चार टैंकर आक्सीनजन की व्यवस्था की है इसके बावजूद शहर में आक्सीजन की मात्रा पर्याप्त नहीं है।