सड्डू बस्ती श्मशान में अधजली लाशों के कुत्तों द्वारा खाने का वीडियो वायरल होने पर दो युवकों पर केस

रायपुर। राजधानी रायपुर में श्मशान से कोरोना संक्रमित अधजली लाशों को कुत्तों द्वारा नोंचकर खाने का एक वीडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल हुआ तो हड़कंप मच गया। नगर निगम के अफसरों ने इसे भ्रामक वीडियो बताया है और वीडियो वायरल करने वाले दो युवकों पर विधानसभा पुलिस थाने में अपराध दर्ज करवा दिया। निगम के अफसरों का दावा है कि वीडियो किसी और जगह का है, युवकों ने गलत जानकारी फैलाकर गुमराह करने का काम किया है।

पूरा मामला सड्डू इलाके का बताया जा रहा है। एक तरफ कुशाभाऊ ठाकरे वार्ड के श्मशान के करीब बस्ती के लोग की शिकायत है कि वे रोज-रोज इन हालातों से बेहद परेशान हैं। वहीं, अधजली लाशों के कुत्तों के खाने का वीडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल होने के बाद पुलिस भी जांच में जुट गई है।

रहवासियों का आरोप, लाश के टुकड़े बिखरे होते हैं

श्मशान के पास की बस्ती की महिलाएं और बुजुर्गों का आरोप है कि श्मशान में अधजली लाशों के टुकड़ों को लेकर कुत्ते बस्ती में आ जाते हैं। घर के आंगन में कभी किसी का हाथ पड़ा मिलता है, कभी पैर, तो कभी खोपड़ी। हमारे भी छोटे-छोटे बच्चे हैं। लाश के टुकड़े इधर-उधर बिखरा देखकर डर लगता है। नगर निगम जोन में शिकायत करने पर कोई कार्रवाई नहीं की गई। अगर सही तरीके से अंतिम संस्कार नहीं कर सकते, तो शवों को कहीं और ले जाएं।

स्थानीय पार्षद सुशीला धीवर ने कहा वीडियो की जांच होनी चाहिए।

इस मामले में वार्ड की पार्षद सुशीला धीवर का कहना है कि मैंने बस्ती के लोगों से बातचीत की थी। कुत्तों द्वारा अधजले शव खाने की शिकायत सामने आई थी। लोग इसका विरोध कर रहे हैं कि शव वहां न जलाएं जाएं। वीडियो वायरल करने में विपक्षी पार्टी के लोगों का हाथ है। इसकी जांच होनी चाहिए।

आरोप- मामला दबाने की कोशिश

सड्डू का यह हिस्सा नगर निगम के जोन क्रमांक नौ में आता है। नायब तहसीलदार दीपक भारद्वाज की ओर से विधानसभा थाने में अजय देवांगन के खिलाफ केस दर्ज करवाया गया है। वहीं, अजय ने मीडिया के माध्यम से आरोप लगाया है कि शिकायत सामने आने पर कलेक्टर और नगर निगम के अफसरों के नाम एक शिकायती आवेदन दिया था। इससे अफसर मुझ पर नाराज हो गए और गलत जानकारी देने की बात कहकर केस दर्ज करवा दिया, जबकि कुत्तों द्वारा अधजली लाखों को नोंचकर इधर-उधर बिखेर देने के कारण बस्ती के लोग काफी परेशान और डरे हुए हैं।

यह दर्ज हुआ केस

फाफाडीह, साहूपारा निवासी भोला तिवारी रायपुर जोन क्रमांक नौ के प्रभारी स्वास्थ पर्यवेक्षक (इंसीडेंट कमांडर) ने विधानसभा पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराया कि कोरोना संक्रमित मृत लोगों का अंतिम संस्कार कार्य निगम द्वारा सड्डू मुक्तिधाम में कराया जा रहा है। इस स्थल का भ्रामक वीडियो बनाकर सड्डू निवासी मनीष निषाद, अजय देवांगन ने अनर्गल अफवाह इंटरनेट मीडिया में फैलाई जा रही है।

उनके द्वारा किसी स्थान का महिला की साड़ी दिखाते हुए कुत्तो द्वारा कुछ अवशेष खाते हुए दिखाया गया है जबकि निगम अमला मृत शरीर का अंतिम संस्कार पैक शरीर के साथ किया जा रहा है। जब बाडी पैक है तो साडी कहां से आयी। यह सब संदेहास्पद वीडियो कही का भी बनाकर दुष्चार किया जा रहा है। अवशेष जलने के बाद ही स्थल छोड़ा जाता है। ऐसे दोनों युवकों के खिलाफ केस दर्ज किया जाए। पुलिस ने मामले में रविवार को दोनों के खिलाफ धारा 188 के तहत अपराध कायम कर लिया।

वीडियो की जांच करेंगे

अभी युवकों के खिलाफ फिलहाल धारा 188 के तहत मामला दर्ज किया गया है। वायरल वीडियो की जांच के बाद ही तय करेंगे कि क्या कार्रवाई की जाए।

– बृजेश तिवारी, थाना प्रभारी विधानसभा