ब्रेकिंग
राकेश झुनझुनवाला के पोर्टफोलियो वाले इस शेयर को खरीदने की सलाह दे रहे ब्रोकरेज फर्म, आएगा 39% का उछाल! बिहार में सभी पुराने सरकारी भवनों का होगा फायर सेफ्टी आडिट सितंबर में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 3 टी20 मैच खेलेगा भारत 8GB रैम और 512GB स्टोरेज के साथ आया नया फोल्डेबल स्मार्टफोन दाम बढ़ाने के बजाय पैकेट का वजन घटा रहीं कंपनियां नेपाल बिना हमारे राम अधूरे : पीएम मोदी जून में कर्ज और हो सकता है महंगा, RBI रेपो रेट में फिर से बढ़ोतरी का ले सकता है फैसला कई दिनों की बिकवाली के बाद आज बाजार में रही हरियाली, सेंसेक्स 180 अंक चढ़कर बंद, निफ्टी 15800 के करीब क्लोज खुशखबरी, क‍िसानों के खाते में इस द‍िन आएंगे 2000 रुपये! चेक कर लें अपना नाम महिला टी20 चैलेंज के लिए हरमनप्रीत, मंघाना और दीप्ति को मिली कप्तानी

कोरोना के आगे दम तोड़ती शिवराज सरकार की व्यवस्थाएं! BJP नेता ने कहा- सांसों की कालाबाजारी बंद करो

ग्वालियर: प्रदेश में कोरोना संकट के बीच रेमडेसिविर इंजेक्शन, ऑक्सीजन और अस्पतालों में बेड की कमी ने शिवराज सरकार को कटघरे में कर खड़े कर दिया है। कोरोना वायरस के तेजी से फैल रहे संक्रमण के आगे शिवराज सरकार की व्यवस्थाएं फैल होती नजर आ रही है। ऐसे में विपक्ष के साथ साथ बीजेपी के नेता ही शिवराज सरकार के खिलाफ हो गए हैं। ऐसे में एक तरफ ग्वालियर में अटल बिहारी वाजपेयी के भतीजे अनूप मिश्रा ने शिवराज सरकार पर कालाबाजारी का आरोप लगाया है तो वहीं दूसरी तरफ BJP के पूर्व शहर जिला अध्यक्ष देवेश शर्मा ने कोविड प्रभारी मंत्री प्रधुम्न सिंह तोमर के बंगले के बाहर धरना प्रदर्शन शुरु किया है।

अटल बिहारी वाजपेयी के भतीजे और BJP के नेता अनूप मिश्रा ने ट्वीट में लिखा कि सांसों का संघर्ष अति दु:खदाई स्थिति में पहुंच गया है। रेमेडेसिविर इंजेक्शन और ऑक्सीजन की कालाबाज़ारी ने व्यवस्था पर प्रश्नचिन्ह लगा दिया है। यह चीजें आम आदमी की पहुंच से दूर हैं, लेकिन दलालों और कुछ नेताओं  के पास उपलब्ध है। उन्होंने सीएम के जनता के नाम संदेश को रिट्वीट करते हुए लिखा यह समय प्रयास करने और माफी मांगने का नहीं बल्कि जमीनी स्तर पर लोगों को समय पर बेहतर इलाज मिले, इसे सुनिश्चित करने का है।
PunjabKesari

वहीं शहर में रेमडेसिविर इंजेक्शन और ऑक्सीजन की कालाबाज़ारी को लेकर BJP के पूर्व शहर जिला अध्यक्ष देवेश शर्मा ने धरना प्रदर्शन शुरु किया है। उन्होंने कोविड प्रभारी मंत्री प्रधुम्न सिंह तोमर के बंगले के बाहर बिस्तर बिछाकर धरना दिया। उनका कहना है कि उन्होंने मंत्री प्रधुम्न सिंह तोमर से 5 लोगों को इंजेक्शन और ऑक्सीजन उपलब्ध कराने के लिए मैसेज किया था लेकिन कोई जवाब नहीं आया। इसलिए उन्होंने धरना-प्रदर्शन का रास्ता अपनाया। इस बीच जब मंत्री तोमर पूर्व जिला अध्यक्ष को समझाइश देने गए तो बीजेपी नेता ने उन्हें खूब खरी-खोटी सुनाई। मिश्रा ने मंत्री जी को नौटंकी न करने की सलाह दी।