ब्रेकिंग
आर्थिक आधार से गरीब लोगों के आरक्षण में कटौती के विरोध में आज भाटापारा अनुविभागीय अधिकारी के कार्यालय जाकर राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा गया विधानसभा विशेष सत्र। विधानसभा सत्तापक्ष पर जमकर बरसे विधायक शिवरतन शर्मा, आरक्षण रुकवाने जो लोग कोर्ट गए उन्हें मुख्यमंत्री जी पुरस्कृत करते हैं,सत्र ... Selecting the right Virtual Info Room Supplier रायपुर विधानसभा विशेष सत्र। विधानसभा में आरक्षण बिल के दौरान ब्राह्मण नेताओं पर जमकर बरसे बलौदाबाजार विधायक प्रमोद शर्मा, उनके मुंह पर करारा तमाचा मार... Making a Cryptocurrency Beginning अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद भाटापारा नगर इकाई की हुई घोषणा मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने मंडी समिति के नए सदस्य को दिलाई शपथ, उद्बोधन में कहा भारसाधक पदाधिकारीयो की नियुक्ति के बाद से मंडी लगातार चहुमुखी विकास क... मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने धान ख़रीदी केंद्रो का निरीछन कर, धान बेचने आये किसानो से मुलाक़ात कर, धान बेचने में आने वाली समस्या की जानकारी ली, किसानों... ग्राम मर्राकोना में नवीन धान उपार्जन केंद्र के शुभारंभ अवसर पर मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने कहा भूपेश सरकार किसानों की सरकार है ग्राम मर्राक़ोंना में नवीन धान उपार्जन केंद्र को मिली हरी झंडी मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने दी जानकारी

फर्रुखाबाद में पोलिंग बूथ से मतपत्र चोरी होने के बाद हंगामा, रोकी गई पोलिंग

लखनऊ। कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते प्रकोप के बीच में भी उत्तर प्रदेश में गांव की सरकार चुनने वालों के जोश में कमी नहीं है। चौथे और अंतिम चरण का मतदान सुबह सात बजे से शुरू हो गया है। 17 जिलों में शाम को छह बजे तक चलने वाले मतदान के लिए मतदाताओं के साथ पोलिंग पार्टियां व सुरक्षा कर्मी मुस्तैद हैं।

प्रदेश में पहले चरण का मतदान 15 अप्रैल को हुआ था। जिसमें 18 जिलों 71 प्रतिशत मतदान हुआ था। इसके बाद तो मतदान प्रतिशत बढ़ता ही चला गया। 19 अप्रैल को 20 जिलों में 73 प्रतिशत और 26 अप्रैल को 20 जिलों में 73.50 प्रतिशत मतदान हुआ था। अब आज भी 17 जिलों के मतदाता जोश में हैं और इनका प्रयास बीते तीन चरण के रिकॉर्ड को तोडऩे का है। बीते तीन चरण में मतपेटिका लूटने, इनमें पानी तथा स्याही डालने के साथ ही मारपीट तथा फायरिंग हुई थी। इन सभी को देखते हुए आज सुरक्षा कर्मी बेहद मुस्तैद हैं। प्रदेश में आज बुलंदशहर, हापुड़, संभल, शाहजहांपुर, अलीगढ़, मथुरा, फर्रुखाबाद, बांदा, कौशांबी, सीतापुर, अंबेडकरनगर, बहराइच, बस्ती, कुशीनगर, गाजीपुर, सोनभद्र और मऊ जिलों में मतदान शुरु हो गया है।

पोलिंग बूथ से मतपत्र चोरी होने की सूचना पर ग्रामीणों का हंगामा: फर्रुखाबाद में विकासखंड बढ़पुर की ग्राम पंचायत जैतपुर के पोलिंग बूथ संख्या 116 पर रात में किसी समय प्रधान पद के लगभग 500 मतपत्र चोरी हो गए हैं। आरोप है कि पीठासीन अधिकारी रोबिन मिशेल की तबीयत खराब होने पर वह रात को घर चले गए थे। सुबह इसकी जानकारी होने पर ग्रामीणों ने हंगामा कर दिया। वहां पर पोलिंग रोक दी गई। हंगामा होते देख मतदान अधिकारी ने पोलिंग बूथ से मतपत्र चोरी होने की सूचना सेक्टर और जोनल मजिस्ट्रेट को दी।

दोनों अधिकारियों ने घटना के संबंध में डीएम मानवेंद्र सिंह को जानकारी दी। इसके बाद डीएम के आदेश पर एसडीएम सुनील कुमार और सीओ सोहराब आलम पुलिस बल के साथ पहुंचे। घटनास्थल पर ग्रामीणों का हंगामा जारी है। घटना की जानकारी होते ही जिलाधिकारी मानवेंद्र सिंह और पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार मीणा भी मौके पर पहुंचे हैं। यह लोग ग्रामीणों को समझाने में लगे हैं।

फर्रुखाबाद में नाती की गोद में वोट डालने पहुंची 90 वर्षीया सावित्री: फर्रुखाबाद के विकास खंड मोहम्मदाबाद क्षेत्र की ग्राम पंचायत खिमसेपुर में मतदाताओं में पंचायत चुनाव के लिए उत्साह दिखाई दिया। सुबह से ही बड़ी तादात में मतदाता बूथ पर पहुंचे। गांव की 90 वर्षीय सावित्री देवी चलने-फिरने में लाचार हैं।\

वह स्वयं बूथ पर नहीं जा पाई तो उन्होंने अपने नाती उपेंद्र सिंह का सहारा लिया। उपेंद्र सावित्री देवी को अपनी गोद में उठाकर वोट डलवाने के लिए बूथ पर पहुंचा। फर्रुखाबाद में पंचायत चुनाव में मतदान करने के लिए उत्साह दिखाई दे रहा है। सुबह ही कुछ बूथों पर बड़ी संख्या में मतदाता तो मतदान केंद्र का गेट खुलने से पहले ही पहुंच गए

वहां लम्बी लाइन लग गई। कमालगंज ब्लॉक क्षेत्र की ग्राम पंचायत नगला दाऊद मे सुबह 6.30 पर बूथ पर लंबी कतार लग गई। इसके अलावा बढ़पुर ब्लॉक क्षेत्र के गांव खानपुर में भी सुबह से ही मतदाता पहुंचे तो लंबी कतार लगी दिखी।

अलीगढ़ में 1392 मतदान केंद्र: पंचायत चुनाव के लिए अलीगढ़ में मतदान शुरू हो गया है। यहां पर त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए कुल 1392 मतदान केंद्र पर 2969 बूथ बनाए गए हैं।  यहां पर 18 लाख मतदाता 15858 दावेदारों के भविष्य का फैसला करेंगे।

बहराइच में सुरक्षा के कड़े इंतजाम: चौथे चरण के लिए बहराइच जिले में सुबह सात बजे से मतदान शुरू हो गया। अधिकतर बूथों पर सुबह ही लंबी कतार लग गई है। यहां पर मतदाता मास्क लगाकर ही बूथों पर आ रहे हैं। इसके बाद भी बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच शारीरिक दूरी तार-तार हो रही है।  सैनिटाइजेशन व मास्क तक की व्यवस्था नहीं है। जिले में 1045 ग्राम पंचायतों के प्रधान, 63 जिला पंचायत सदस्य, 1580 क्षेत्र पंचायत सदस्य व 13703 ग्राम पंचायत सदस्य पदों पर चुनाव हो रहा है।

मतदान के लिए 3856 बूथ बनाए गए हैं। संक्रमण को देखते हुए मतदाताओं को कोरोना प्रोटोकाल के पालन करना अनिवार्य किया गया है। जिले के 3856 बूथों पर मतदान किया जाएगा। ग्राम प्रधान पद पर 7110, क्षेत्र पंचायत सदस्य पद पर 7556, ग्राम पंचायत सदस्य पद के लिए 5028 व जिला पंचायत सदस्य पद के लिए लगभग 225 प्रत्याशी चुनावी मैदान में हैं। दो प्रधान, 50 बीडीसी समेत 9314 का निॢवरोध निर्वाचन तय है। यहां पर प्रधान पद पर दो, क्षेत्र पंचायत सदस्य पद पर 50 व ग्राम पंचायत सदस्य पद के लिए 9262 प्रत्याशियों के सामने दूसरे प्रत्याशियों ने नामजदगी के पर्चे नहीं भरे हैं। यानी इन प्रत्याशियों को निर्विरोध निर्वाचन तय माना जा रहा है।

सीतापुर में महोली ब्लाक की तीन ग्राम सभाओं में प्रधान पद का चुनाव नहीं: सीतापुर जिले के 1858 मतदान केंद्रों के 4980 मतदेय स्थलों पर गुरुवार सुबह सात बजे से मतदान शुरू हो गया। उम्मीदवारों की किस्मत मतपेटियों में बंद होने लगी। कई मतदान केंद्रों पर मतदाताओं की लंबी लाइन लग गई। मतदाता सुबह 6 :30 बजे ही मतदान केंद्र पहुंच गए। कुछ मतदान केंद्रों पर मतदान की प्रक्रिया पांच-दस मिनट विलंब से शुरू हो सकी। बूथों पर प्रधान, बीडीसी, जिला पंचायत सदस्य व ग्राम पंचायत सदस्य पद के लिए वोट डाले जा रहे। महोली ब्लाक की तीन ग्राम सभाओं में प्रधान पद का चुनाव नहीं हो रहा। यहां के मतदान केंद्र पर बीडीसी व जिला पंचायत सदस्य के लिए मतदाता अपने-अपने मतों का प्रयोग कर रहे हैं।

कुछ मतदान केंद्रों पर मतदाता कोविड गाइड लाइन का पालन कर रहे हैं। वहीं कुछ मतदान केंद्रों पर लगी मतदाताओं की लाइन में दो गज की दूरी नजर नहीं आ रही। जिले की पंचायतों के 30.65 लाख मतदाता गांव की सरकार चुनेंगे। 79 जिला पंचायत सदस्य व 1594 प्रधान चुने जाएंगे। जिले की 1596 प्रधान पद पर चुनाव होना था। कसमंडा की ग्राम सभा पूरनपुर व पिसावां ब्लॉक की ग्राम सभा बीहट गौर में प्रधान पद के उम्मीदवार के निधन के बाद इन ग्राम सभाओं के प्रधान पद का चुनाव स्थगित कर दिया गया है। रेउसा व बिसवां ब्लॉक में भी प्रधान पद के उम्मीदवार का निधन हुआ था, इन ब्लाकों के आरओ की ओर से चुनाव स्थगन सम्बंधी आदेश जारी नहीं किया गया।

5.5 लाख प्रत्याशियों का फैसला: प्रदेश में आज पंचायत चुनाव के अंतिम चरण के मतदान में 17 जिलों में 2.9 करोड़ से अधिक मतदाता साढ़े पांच लाख प्रत्याशियों के भाग्य विधाता बनेंगे। त्रि-स्तरीय पंचायत चुनाव के चौथे व अंतिम चरण में गुरुवार को विभिन्न पदों के लिए 5,58,205 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला 2,98,21,443 मतदाता करेंगे। प्रदेश के 17 जिलों में कुल 48,460 पोलिंग बूथों पर शाम छह बजे तक वोट डाले जाएंगे। कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए बचाव उपायों का सख्ती से पालन कराने के लिए कड़े निर्देश जारी हैं। निर्वाचन कराने के लिए 243708 अधिकारियों व कर्मचारियों को तैनात किया गया है। इसमें 395 जोनल मजिस्ट्रेट व 2665 सेक्टर मजिस्ट्रेट के अलावा जिला पंचायत सदस्य पदों के लिए 16 निर्वाचन अधिकारी व 96 सहायक निर्वाचन अधिकारी, क्षेत्र पंचायत सदस्य पदों के लिए 177 निर्वाचन अधिकारी व 1599 सहायक निर्वाचन अधिकारी नियुक्त हैं। ग्राम प्रधान पदों के लिए 208 निर्वाचन अधिकारी तथा 2136 सहायक निर्वाचन अधिकारी तैनात हैं।

मतदान केंद्रों पर सेनेटाइजेशन: 19035 मतदान केंद्रों पर सफाई और सेनेटाइजेशन का कार्य कराया गया। निदेशक पंचायती राज किंजल सिंह ने बताया कि कोरोना गाइड लाइन का पूर्णत: पालन कराने को पोलिंग बूथों पर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, आशा बहुओं और सफाई कर्मियों की ड्यूटी भी लगाई है। बूथों पर मतदाताओं के हाथों को सेनेटाइज करने के लिए पर्याप्त सेनेटाइजर दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि 14,120 ग्राम पंचायतों में 9,924 सफाई कर्मी और करीब 31,000 आंगनबाड़ी और आशा बहू कार्यरत हैं।

पल्स आक्सीमीटर व थर्मामीटर भी: निदेशक ने बताया कि पोलिंग बूथों पर निगरानी समिति के सदस्य, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और आशा बहू पल्स ऑक्सीमीटर और थर्मामीटर के साथ रहेंगी। मतदाताओं के मतदान के पहले तापमान और ऑक्सीजन स्तर की निगरानी करेंगीं। सैनिटाइज करने के बाद ही मतदान करने दिया जाएगा।